पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कॉमन एंट्रेंस टेस्ट:मेरिटोरियस स्कूलों में दाखिले के लिए 29 को एंट्रेंस टेस्ट, जिले के दो स्कूलों में बनाए सेंटर

जालंधरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जालंधर मेरिटोरियस स्कूल में 11वीं में  158 विद्यार्थी शिक्षा हासिल कर रहे हैं और 12वीं क्लास की सारी सीटें खाली - Money Bhaskar
जालंधर मेरिटोरियस स्कूल में 11वीं में  158 विद्यार्थी शिक्षा हासिल कर रहे हैं और 12वीं क्लास की सारी सीटें खाली
  • दोपहर 2 से शाम 4 बजे तक चलेगा पेपर, आधा घंटा पहले केंद्र में पहुंचना जरूरी
  • कोविड-19 की गाइडलाइंस को ध्यान में रखते हुए आयोजन किया जाएगा

सोसायटी फॉर प्रमोशन ऑफ क्वालिटी एजुकेशन फॉर पूअर एंड मेरिटोरियस स्टूडेंटस ऑफ पंजाब की ओर से राज्य भर में चलाए जा रहे 10 मेरिटोरियस स्कूलों में सेशन 2022-23 के दाखिले के लिए कॉमन एंट्रेंस टेस्ट 29 मई को लिया जाएगा। बोर्ड ने तैयारियां मुकम्मल कर ली हैं। रजिस्ट्रेशन प्रोसेस 10 मई को बंद हो चुका है। पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड की ओर से राज्य भर में 73 और जिले में 2 सेंटर बनाए गए हैं। विभिन्न स्ट्रीम की कुल 4600 सीटें हैं। टेस्ट 2 घंटे का होगा जो दोपहर 2 से शाम 4 बजे तक चलेगा।

कोविड-19 की गाइडलाइंस को ध्यान में रखते हुए आयोजन किया जाएगा। विद्यार्थी काे सेंटर में आधा घंटा पहले पहुंचना होगा। 15 दिन बाद पीएसईबी परिणाम जारी कर देगा। इसके बाद काउंसलिंग की प्रक्रिया शुरू होगी और फिर सीटें अलॉट की जाएंगी। मेरिटोरियस स्कूलों में दाखिले के लिए जालंधर में 2 स्कूलों में सेंटर बनाया गया है। इनमें नेहरु गार्डन सीनियर सेकेंडरी स्कूल और सीनियर मॉडल स्कूल लाडोवाली रोड है। नेहरु गार्डन सीनियर सेकेंडरी स्कूल में 400 और सीनियर मॉडल स्कूल लाडोवाली में 262 उम्मीदवार टेस्ट देंगे। जालंधर मेरिटोरियस स्कूल में 11वीं में 158 विद्यार्थी शिक्षा हासिल कर रहे हैं और 12वीं क्लास की सारी सीटें खाली हैं।

इस साल 12वीं क्लास के लिए भी होगा पेपर

जालंधर, अमृतसर, बठिंडा, लुधियाना, पटियाला और मोहाली में चलाए जा रहे मेरिटोरियस स्कूलों में नॉन मेडिकल की 300, मेडिकल और कॉमर्स की 100-100 सीटें हैं। फिरोजपुर, गुरदासपुर, संगरूर में नॉन मेडिकल की 300 सीटें हैं, जिनमें लड़कों की 111, लड़कियों की 189, मेडिकल कॉमर्स में लड़कों की 32 और लड़कियों की 68 सीटें हैं। तलवाड़ा में केवल लड़कियों के लिए नॉन मेडिकल व मेडिकल की 35-35 और कॉमर्स की 30 सीटें हैं। 2021 में 12वीं में दाखिले ही नहीं हुए और इसी वजह से इस साल दाखिले के लिए एग्जाम देना होगा। इस बार 80% की बजाय नंबर कम कर जनरल कैटेगरी के लिए 70%, रिजर्व कैटेगरी के लिए 65% तय किए। रजिस्ट्रेशन के लिए 9 बार तारीख बढ़ाई। 3 अक्टूबर को एग्जाम लिया। रिजल्ट घोषित करने में 52 दिन लगे। डेढ़ साल बाद स्कूल खुलने थे। वहीं, अप्रैल में जो सेशन शुरू होता है, उसके लिए भी अक्टूबर में एग्जाम लिया गया। काउंसलिंग के बाद क्लासें शुरू की गई थी। ऐसे में दिसंबर में बच्चों की पढ़ाई शुरू हुई।

खबरें और भी हैं...