पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX61350.260.63 %
  • NIFTY18268.40.79 %
  • GOLD(MCX 10 GM)479750.13 %
  • SILVER(MCX 1 KG)65231-0.33 %
  • Business News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • Congress Leader Thrashed In Jalandhar City Council Office, Sanitation Workers Protesting Against Not Giving Appointment Letter Even After A Month; When He Started Arguing While Showing Leadership, He Got Slapped

जालंधर में नगर कौंसिल दफ्तर में कांग्रेस नेता से मारपीट:एक महीने बाद भी नियुक्ति पत्र नहीं मिलने का विरोध कर रहे थे सफाई कर्मी; नेतागीरी दिखाते हुए बहस करने लगा तो पड़े थप्पड़

जालंधरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आदमपुर नगर कौंसिल दफ्तर में कांग्रेसी नेता की पिटाई करते सफाई कर्मी। - Money Bhaskar
आदमपुर नगर कौंसिल दफ्तर में कांग्रेसी नेता की पिटाई करते सफाई कर्मी।

जालंधर के आदमपुर नगर कौंसिल दफ्तर में सफाई कर्मचारियों ने कांग्रेसी नेता की जमकर पिटाई कर डाली। उनका कहना है कि नियुक्ति पत्र एक महीने पहले आ चुके हैं लेकिन उन्हे नहीं दिए जा रहे हैं। नगर कौंसिल प्रधान के साथ बातचीत के दौरान उक्त कांग्रेसी नेता बीच में नेतागीरी करने लगा। जिससे सफाई कर्मी भड़क उठे और उन्होंने कांग्रेसी नेता को जमकर थप्पड़ मारे। अब पूरे मामले को रफा-दफा करने की कोशिश की जा रही है।

आदमपुर के हनी नाम के युवक को मां की मौत के बाद उनकी जगह नगर कौंसिल में नौकरी मिली थी। सरकार ने 19 अगस्त को उसका नियुक्ति पत्र जारी कर दिया था। इसके बावजूद उसे नहीं दिया गया। जिस वजह से वह नौकरी पर नहीं आ पा रहा था। जरूरत होने के बावजूद वह घर पर रहने को मजबूर था। जिसके बाद वह नगर कौंसिल दफ्तर में प्रधान दर्शन सिंह करवल से मिलने के लिए पहुंचा।

केपी के हाथों दिलवाने के चक्कर में हुई देरी
हनी को कहा गया कि यह नियुक्ति पत्र वरिष्ठ कांग्रेसी नेता और पंजाब टेक्निकल एजुकेशन बोर्ड के चेयरमैन मोहिंदर सिंह केपी के हाथों दिलवाया जाना है। उनके किसी रिश्तेदार का निधन हो गया, जिस वजह से इसमें देरी हो गई। इस पर हनी ने कहा कि उसके परिजन का भी निधन हुआ है और केपी से उसकी सांत्वना है लेकिन उसकी नौकरी की जरूरत को भी देखा जाए। नियुक्ति पत्र न मिलने से मुझे एक महीने का वेतन नहीं मिला। इस पर प्रधान ने कहा कि उसे जल्द नियुक्ति पत्र दे देंगे।

बातचीत के बीच नेतागीरी दिखाई तो पड़े थप्पड़
इसी दौरान दीपा नाम का कांग्रेसी नेता वहां बैठा था। जो बीच में कुछ कहने लगा तो उसकी सफाई कर्मचारियों से कहासुनी हो गई। उसने नेतागीरी दिखाई तो वहां खड़े दूसरे सफाई कर्मचारियों ने उस पर थप्पड़ों की बरसात कर दी। जिसके बाद प्रधान भी वहां से चलते बने। पूरे मामले में दूसरे लोगों ने बीचबचाव कर मामला शांत कराया।

आदमपुर नगर कौंसिल दफ्तर में चल रही बैठक, जिसके बाद हंगामा हुआ।
आदमपुर नगर कौंसिल दफ्तर में चल रही बैठक, जिसके बाद हंगामा हुआ।

शराब तस्करी का केस, फिर भी पहली कतार में
जिस कांग्रेसी नेता पर थप्पड़ों की बरसात हुई, उसके खिलाफ कुछ वक्त पहले शराब तस्करी का केस दर्ज हो चुका है। कोविड के चलते उसे जमानत मिल गई। नगर कौंसिल दफ्तर में भी उसे पहली कतार में कुर्सी दी ग। इसके अलावा भी वह उद्घाटन या अन्य समारोहों में सबसे आगे रहता है। जिसको लेकर कांग्रेसी नेताओं पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं।

क्लेरिकल औपचारिकता की वजह से हुई देरी : प्रधान करवल
नगर कौंसिल आदमपुर के प्रधान दर्शन सिंह करवल ने कहा कि क्लेरिकल औपचारिकता की वजह से नियुक्ति पत्र देने के काम में देरी हुई। अब सारा काम कर मंगलवार तक युवक को नियुक्ति पत्र दे दिया जाएगा। उन्होंने सफाई कर्मियों व कांग्रेसी नेता के उनके दफ्तर के बीच हुए झगड़े पर कहा कि दोनों पक्ष एक ही मोहल्ले के हैं। यह झगड़ा अकाली दल व कांग्रेस की पार्टी स्तर की लड़ाई की वजह से हुआ है। उनका झगड़े से कोई लेना-देना नहीं है।

खबरें और भी हैं...