पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57858.150.64 %
  • NIFTY17277.950.75 %
  • GOLD(MCX 10 GM)486870.08 %
  • SILVER(MCX 1 KG)63687-1.21 %
  • Business News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • Advocates Of Sikh Organizations Said: People Angry With Objectionable Remarks; Mann's Lawyers Said: He Has Apologised, Hearing Again Tomorrow In Jalandhar Sessions Court

गुरदास मान को आज नहीं मिली अग्रिम जमानत:सिख संगठनों के वकीलों का तर्क- बेल मिली तो पंजाब का माहौल खराब हो सकता है... मान के वकील बोले, अज्ञानतावश कही बात की माफी मांग चुके; कल फिर सुनवाई

जालंधर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गुरदास मान की अग्रिम जमानत पर सुनवाई के दौरान कोर्ट कांप्लेक्स के बाहर हलचल। - Money Bhaskar
गुरदास मान की अग्रिम जमानत पर सुनवाई के दौरान कोर्ट कांप्लेक्स के बाहर हलचल।

नकोदर स्थित डेरा बाबा मुराद शाह में मेले के दौरान आपत्तिजनक टिप्पणी के मामले में पंजाबी गायक गुरदास मान को अग्रिम जमानत नहीं मिली। मान ने डेरे के गद्दीनशीन रहे लाडी शाह को श्री गुरु अमरदास जी का वंशज बताया था। इसके बाद सिख संगठनों ने उनके खिलाफ धार्मिक भावनाओं को आहत करने का केस दर्ज करा दिया। इस मामले में मान ने जिला एवं सेशन कोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका लगाई थी।

सुनवाई के दौरान सिख संगठनों के वकील परमिंदर सिंह ढींगरा व रविंदर सिंह ने कहा कि मान की बातों से लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंची है। इससे देश-विदेश में रह रही सिख संगत में भारी नाराजगी है। मान अगर बाहर रहे तो उससे लोगों की नाराजगी बढ़ सकती है और पंजाब का माहौल खराब हो सकता है। इसलिए उनकी अग्रिम जमानत याचिका को खारिज किया जाए।

कोर्ट में सुनवाई की जानकारी देते सिख संगठनों के वकील परमिंदर सिंह।
कोर्ट में सुनवाई की जानकारी देते सिख संगठनों के वकील परमिंदर सिंह।

परमिंदर सिंह ढींगरा ने बताया कि सुनवाई के दौरान मान के वकीलों ने तर्क दिया कि गुरदास मान ने अज्ञानतावश यह बात कह दी। इसके बाद वह हाथ जोड़कर व कान पकड़कर माफी मांग चुके हैं। हालांकि, कोर्टरूम से बाहर आने के बाद मान के वकील दर्शन सिंह दयाल ने मीडिया से कोई बातचीत नहीं की। एडवोकेट ढींगरा ने कहा कि हमने सिख संगठनों की तरफ से इसका विरोध किया कि यह कोई कंपाउंडेबल आफेंस नहीं है। कानून के हिसाब से इस तरह की माफी मान्य नहीं होती। जिसके बाद जिला एवं सेशन कोर्ट में मामले की सुनवाई कल के लिए टाल दी गई। कल इस संबंध में फैसला आ सकता है। इस दौरान गुरदास मान खुद पेश नहीं हुए, बल्कि उनके वकील ने ही जमानत याचिका दाखिल की।

कोर्ट में मौजूद सिख संगठनों के नेता।
कोर्ट में मौजूद सिख संगठनों के नेता।

विरोध के ऐलान से रही कड़ी सुरक्षा, सिख संगठन के सदस्य भी रहे मौजूद
सिख संगठनों ने गुरदास मान के पेशी पर आने के दौरान विरोध का ऐलान किया था। इसे देखते हुए कोर्ट कांप्लेक्स के बाहर कड़ी सुरक्षा रही। भारी संख्या में पुलिस बल यहां तैनात किया गया था, ताकि कोर्ट की गरिमा को कोई ठेस न पहुंचे। वहीं, मंगलवार सुबह ही सिख संगठनों के सदस्य भी भारी संख्या में कोर्ट परिसर में मौजूद रहे। हालांकि, गुरदास मान के व्यक्तिगत तौर पर न आने व अग्रिम जमानत पर फैसला न होने की वजह से माहौल शांतिपूर्ण रहा। परमजीत अकाली ने कहा कि वो कल कोर्ट के फैसले का इंतजार करेंगे। उसके बाद अगला कदम उठाया जाएगा।

नकोदर मेले के दौरान की थी टिप्पणी
मान ने नकोदर मेले के आखिरी दिन विवादित टिप्पणी की थी। इसका वीडियो सामने आया तो सिख संगठन नाराज हो गए। उन्होंने पुलिस के खिलाफ प्रदर्शन किया। जब केस दर्ज नहीं हुआ तो जालंधर-दिल्ली नेशनल हाईवे जाम कर दिया। इसके बाद पुलिस ने मान के खिलाफ थाना नकोदर में IPC की धारा 295A का केस दर्ज कर दिया।

इसके बाद डेरा बाबा मुराद शाह समर्थक भी सड़क पर उतरे। उन्होंने मान पर केस दर्ज कराने वाले सिख संगठन नेता परमजीत अकाली पर केस दर्ज करने की मांग की। हालांकि, पुलिस ने अभी कोई कार्रवाई नहीं की है। इसके बाद सिख संगठनों ने सोमवार को मान का पुतला भी फूंका। जिसके बाद आज अग्रिम जमानत पर सुनवाई हुई।

खबरें और भी हैं...