पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भास्कर एक्सक्लूसिव:चूहड़वाली में 4 करोड़ की लागत से बनेगा नया सब स्टेशन कैंट, दकोहा, रामामंडी की 1 लाख आबादी को होगा फायदा

जालंधरएक महीने पहलेलेखक: सुरिंदर सिंह
  • कॉपी लिंक
सांकेतिक तस्‍वीर - Money Bhaskar
सांकेतिक तस्‍वीर

पावरकाॅम अपने ओवरलोडेड सिस्टम को डी-लोड करने में प्रयासरत है। चूहड़वाली में 4 करोड़ की लागत से नया 66 केवी सब स्टेशन बनने जा रहा है, जिससे 1 लाख से अधिक आबादी को राहत मिलेगी। रोज बिजली फाल्ट आने के कारण लोग काफी परेशान थे। अब 66 केवी सब स्टेशन तैयार होने के बाद सिटी के ग्रिडों में आने वाले फाल्ट भी बंद हो जाएंगे। इससे पहले चूहड़वाली में 33 एमवीए के ट्रांसफार्मर से आसपास के इलाकों में बिजली सप्लाई दी जा रही है, लेकिन सिस्टम पूरी तरह से ओवरलोडेड है।

इसी कारण डिस्ट्रीब्यूशन विभाग ने नया सब स्टेशन तैयार करने की फाइल बनाकर हेड ऑफिस में भेजी है, जिसकी मंजूरी मिलते ही काम शुरू हो जाएगा। डिप्टी चीफ इंजीनियर इंद्रपाल सिंह ने बताया कि चूहड़वाली सब स्टेशन पर करीब चार करोड़ रुपए लागत आएगी। इसमें कितने एमवीए के ट्रांसफार्मर रखवाए जाने हैं, उसका एस्टीमेट भी तैयार करके भेजा गया है। लोगों को सहूलियत देने के लिए ही पावरकाॅम बायफ्रिक्रेशन का काम भी कर रहा है।

कैंट और परागपुर के सब स्टेशनों पर भी कम होगा लोड
इस समय सही ढंग से बिजली सप्लाई न मिल पाने के कारण रामा मंडी और दकोहा के साथ बनी नई काॅलोनियां प्रभावित हैं। कोई दिन बिना बिजली कट के नहीं बीतता। ट्रांसफार्मरों का फ्यूज उड़ना, जंपर जलने और केबल बाक्स जलना आए दिन होता रहता है। इन्हीं दिक्कतों से लोगों को राहत दिलाने के लिए पावरकाॅम ने नए सब स्टेशन की प्रपोजल तैयार की, जिसे हरी झंडी मिलने के बाद अब फाइल बनाकर पटियाला हेड ऑफिस में भेज दी गई है।

अधिकारियों का कहना है कि दो हफ्ते के अंदर अप्रूवल मिल जाएगी और उसके बाद काम शुरू करवा दिया जाएगा। सारे काम की माॅनिटरिंग डायरेक्टर डिस्ट्रीब्यूशन डीआईपीएस ग्रेवाल कर रहे हैं। गर्मी बढ़ने के कारण बिजली की डिमांड भी काफी बढ़ गई है।

कैंट और परागपुर के सब स्टेशनों पर इसका भार पड़ रहा है। अगले महीने पैडी सीजन की शुरुआत होने वाली है। किसानों को 24 घंटे बिजली सप्लाई दी जानी है। तब इन दो सब स्टेशनों का अहम रोल रहेगा। इन सब स्टेशनों को सबसे बड़ी राहत चूहड़वाली सब स्टेशन तैयार होने के बाद ही मिलेगी।

इन इलाकों में भी मिलेगी राहत
रामा मंडी, दकोहा, जोगिंदर नगर, धन्नोवाली, परागपुर, तल्हण, पूर्ण पुर, कैंट, बड़िंग गांव, हाईवे के किनारे बने माॅल, लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी के फीडरों को बड़ी राहत मिलेगी, खजूरला, कोट कलां आदि नई बन रही काॅलोनियां भी आए दिन लगने वाले बिजली कटों से राहत पाएंगी।

खबरें और भी हैं...