पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX62159.480.64 %
  • NIFTY18477.050 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47184-1.49 %
  • SILVER(MCX 1 KG)62935-0.03 %

अभियान शुरू:पराली न जलाने को लेकर गांवों में लगाए जाएंगे पोस्टर और फ्लैक्स बोर्ड

गुरदासपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

धान की पराली के अवशेषों को आग न लगाकर उनका सही इस्तेमाल करने के लिए किसानों को बड़े स्तर पर जागरूक करने का अभियान शुरू किया जा रहा है। इस अभियान के तहत जहां किसानों को कैंप लगाकर जागरूक किया जाएगा। वहीं, गांवों में स्थित सांझी जगहों पर पोस्टर व फ्लैक्स बोर्ड लगाए जा रहे हैं। इस पर पराली जलाने से होने वाले नुकसान और न जलाने पर होने वाले फायदे लिखे जाएंगे। धान की पराली के अवशेषों

की संभाल और इस्तेमाल संबंधी विभिन्न विभागों के अधिकारियों व अग्रिम किसानों के साथ डीसी मोहम्मद इश्फाक ने बैठक की। इसमें डीसी ने धान की पराली के अवशेषों के संभाल व उसका सही प्रयोग करने पर व उसे आग से रोका जा सके। डीसी ने जिले के 50 गांवों जहां पराली को सबसे अधिक आग लगाई जाती है।

इनमें विशेष जागरूकता अभियान चलाने और प्राइवेट शुगर मिलों में फ्यूल बनाने के लिए 30 गांवों की पराली प्रयोग करने के लिए कहा गया है। इसके अलावा पराली से बिल्डिंग मटीरियल बनाने और पराली से कच्चा कोला बनाने के लिए श्री राम कॉलेज नई दिल्ली की छात्राओं की तरफ से कच्चा कोला बनाने के लिए एक एक गांव में पायलट प्रोजेक्ट शुरू किया जाएगा। डीसी ने डीडीपीओ को हिदायत करते हुए कहा कि पराली को आग न

लगाने संबंधी पंचायतों से प्रस्ताव पास करवाए जाएं और अधिकारियों से कहा कि वह गांवों में पोस्टर और फ्लेक्स लगवाएं। मुख्य खेतीबाड़ी अधिकारी डॉक्टर सुरिन्दर सिंह ने बताया कि जिले के किसानों को पराली की संभाल के लिए जागरूक करने के लिए गांव स्तर पर जागरुकता मुहिम शुरू की गई है। किसानों को पराली खेतों में ही मिलाने के लिए जागरूक किया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...