पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX61350.260.63 %
  • NIFTY18268.40.79 %
  • GOLD(MCX 10 GM)479750.13 %
  • SILVER(MCX 1 KG)65231-0.33 %

बेअदबी मामला:विरोध को देख पुलिस ने सुबह 8:15 बजे ही आरोपी को अदालत में किया पेश, 5 दिन का मिला रिमांड

आनंदपुर साहिबएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
तख्त साहिब के सामने पश्चाताप कर रही सिख संगत में बैठे जत्थेदार हरप्रीत सिंह। - Money Bhaskar
तख्त साहिब के सामने पश्चाताप कर रही सिख संगत में बैठे जत्थेदार हरप्रीत सिंह।

तख्त श्री केसगढ़ साहिब में बेअदबी करने वाले आरोपी परमजीत सिंह को वीरवार को पुलिस ने सुबह 8 बजे ही अदालत में पेश कर दिया। जहां अदालत ने उसे 5 दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया। पुलिस द्वारा सुरक्षा कारणों के चलते उसे जल्दी अदालत में पेश किया गया। वहीं पुलिस द्वारा आरोपी के खिलाफ यूएपीए एक्ट लगाने के साथ आग लगाने की कोशिश, आग लगाकर नुकसान करने और समाज में दंगे भड़काने की साजिश की धाराओं में बढ़ोतरी की है। गत दिन पहुंची एसजीपीसी की अध्यक्ष बीबी जगीर कौर ने पुलिस से यूएपीए एक्ट लगाने की अपील की थी।

आरोपी परमजीत सिंह को वीरवार सुबह करीब 8:15 बजे सख्त सुरक्षा प्रबंधों में आनंदपुर साहिब में एसडीजेएम जगमिलाप सिंह खुशदिल की अदालत में पेश करके पुलिस ने 21 सितंबर तक रिमांड प्राप्त कर लिया है। पुलिस ने आरोपी परमजीत सिंह के खिलाफ 295-ए के अलावा यूएपीए-18, आईपीसी की धारा 153, 153-ए, 436 और 511 की बढ़ोतरी की है। जबकि तहसील परिसर में वीरवार को आरोपी के खिलाफ भारी तादाद में लोग, निहंग सिंह तथा अन्य संगठन के लोग पहुंच गए। पुलिस ने इसी के विरोध को देखते हुए सुबह ही पेशी करवा दी। ताकि संगठनों को इस बात की भनक तक न लगे।

श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार इंग्लैंड से लौटते ही तख्त श्री केसगढ़ साहिब पहुंचे पश्चाताप कर रही संगत के बीच बैठे, कहा- प्रबंधकों को इनकी बात सुननी चाहिए थी

श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह वीरवार को इंग्लैंड से लौटकर सीधे तख्त श्री केसगढ़ साहिब में नतमस्तक होने पहुंचे। जहां उन्होंने बेअदबी की घटना को लेकर रोष व्यक्त किया। वह तख्त श्री केसगढ़ साहिब के बाहर पश्चाताप कर रही संगत के बीच जाकर बैठ गए और कहा कि शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रबंधकों तथा सिंह साहिब को इनके बीच आकर बैठना चाहिए था और संगत की बात सुननी चाहिए थी। जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह ने सबसे पहले पूरे मामले की जानकारी प्राप्त की।

इसके बाद पत्रकारों के साथ बातचीत में सिंह साहिब ने कहा कि तख्त साहिब में हुई बेअदबी के मामले में पकड़े गए आरोपी के जिन लोगों के साथ तार जुड़ रहे हैं उनकी गतिविधियों पर रोक लगानी चाहिए। यह गहरी साजिश सिखों और हिंदुओं में टकराव पैदा करने और किसान आंदोलन को कमजोर करने के लिए हो रही है। इसमें एजेंसियां कभी कामयाब नहीं होंगी। उन्होंने कहा कि 1947 और 1984 के बाद कम संख्या होने के कारण सिख धर्म को हमेशा टार्गेट करने की साजिशें होती रही हैं।

वहीं, सिंह साहिब ने आरोप लगाया कि सिखों को श्री गुरु ग्रंथ साहिब की आस्था से तोड़ने के लिए जहां देहधारी गुरुओं का जाल बिछा दिया गया है। वहीं गुरुद्वारा साहिब की आस्था तोड़ने के लिए जगह-जगह डेरे बनाए जा रहे हैं जो एक चिंता का विषय है। पिछले लंबे समय से हो रही इन बेअदबियों के आरोपियों के मामले को पुलिस प्रशासन द्वारा यह कह कर कमजोर कर दिया जाता है कि उक्त व्यक्ति या महिला दिमागी तौर पर ठीक नहीं है। लेकिन जब उक्त व्यक्ति सेहत पक्ष से ठीक नहीं है तो वह गुरु साहिब की बेअदबी को छोड़कर अपने घरवालों के कपड़े क्यों नहीं फाड़ता। उन्होंने पुलिस प्रशासन से मांग की कि आरोपी और मामले में पूरी जांच करके सख्त सजाएं दीं जाएं।

खबरें और भी हैं...