पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

राजनीति:क्रेडिट के लिए पूर्व मंत्री अरोड़ा के शुरू करवाए कार्यों का ही मंत्री जिंपा कर रहे शिलान्यास

होशियारपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पत्रकारों से बातचीत करते कांग्रेसी पार्षद। - Money Bhaskar
पत्रकारों से बातचीत करते कांग्रेसी पार्षद।

शहर में रुके विकास कार्य शुरू न होने पर कांग्रेसियों ने मंत्री ब्रह्मशंकर जिंपा के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। प्रेस कांफ्रेंस में पार्षद पवित्रदीप सिंह, बलविंदर कौर, अरविंदर, जसवंत राय, रजनी, ड्रिपन सैनी, लोकेश ओहरी और पूर्व एमसी नवजोत कटोच ने कहा कि कांग्रेस सरकार में पूर्व मंत्री अरोड़ा ने करोड़ों की लागत से विकास कार्य शुरू किए गए थे जो बाद में रोक दिए गए। अब आम आदमी पार्टी की सरकार बने 2 महीने हो चुके है पर मंत्री जिंपा शहर के लिए एक पैसा भी नहीं ला पाए हैं।

बस क्रेडिट लेने के लिए पहले से शुरू कार्यों का उद्घाटन कर रहे हैं। मुख्यमंत्री भगवंत मान ने कहा था कि वीआईपी कल्चर खत्म करेंगे, पर अब तो शिलान्यास पर नाम लिखे जा रहे हैं। कई रुके कामों का वर्क आर्डर लग चुका है पर नगर निगम व अन्य अधिकारी कहते हैं कि जब तक मंत्री जिंपा आदेश नहीं देते तब तक काम शुरू नहीं होगा।

कांग्रेसी पार्षदों ने चेतावनी दी कि 15 दिन में रुके विकास कार्य शुरू नहीं किए गए तो मंत्री जिंपा की कोठी के बाहर धरना देंगे, जो विकास कार्य शुरू होने तक जारी रखेंगे। वहीं, कांग्रेसियों के खोले मोर्चे के बारे में उनके ही पूर्व मंत्री अरोड़ा को जानकारी नहीं थी। पूर्व कांग्रेसी मंत्री अरोड़ा से पूछा तो उनका कहना था कि उनको तो इसका पता नहीं कि उनके एमसी क्या कर रहे हैं।

मंत्री जिंपा बोले-पिछली सरकार में हुए कार्यों का लेंगे हिसाब
मंत्री जिंपा ने कहा कांग्रेसी सिर्फ राजनीति चमका रहे हैं। शहर के ग्रीन पार्क इलाके में अमरुत योजना के तहत करीब 34 लाख की से पानी सप्लाई की योजना को 2017 में भी लागू नहीं होने दिया गया। ट्यूबवेल नहीं लगने दिया तो मैंने आवाज उठाई थी। उस समय यह कांग्रेसी पार्षद साथ क्यों नहीं खड़े हुए। पूर्व मंत्री को अपने समय में विकास याद नहीं आया।

चुनावों से 3 महीने पहले उद्घाटन पर उद्घाटन करने शुरू कर दिए, जिसका हिसाब सभी से लिया जाएगा। नियत ठीक होती तो विकास कार्य पिछली सरकार के समय ही पूरे हो जाते। वीआईपी कल्चर के बारे में कहा कि वह 25 साल से एमसी जीते लेकिन आज तक अपने नाम का शिलान्यास तक नहीं लगवाया। जो आज शिलान्यास लग रहे हैं वह विभागों के अधिकारी खुद तैयार करवाकर लगवा रहे हैं।

मंत्री ने कहा कि उन्होंने किसी भी अधिकारी को कांग्रेसियों के या अन्य विकास कार्यों को करने से नहीं रोका। जबकि पूर्व सरकार में जिले अधिकारियों को आदेश दिए जाते थे कि किसी की लाइट भी लगानी है तो पहले पूछा जाए। पिछली सरकार के समय कोर्ट के पास लगने वाली रेहड़ियों के पास गंदगी रहती थी, पर उन्होंने मंत्री बनते ही मसला हल कर दिया।

खबरें और भी हैं...