पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हड़ताल:पंजाब रोडवेज, पनबस और पीआरटीसी के डिपो रहे बंद 127 बसों के चक्के जाम

फिरोजपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हड़ताल के दौरान धरने पर बैठे रोडवेज कर्मी - Money Bhaskar
हड़ताल के दौरान धरने पर बैठे रोडवेज कर्मी

पंजाब रोडवेज, पनबस व पीआरटीसी कांट्रैक्ट वर्कर्स यूनियन ने पंजाब रोडवेज के डिपो बंद करके मैनेजमेंट के खिलाफ रोष जताया। वीरवार को फिरोजपुर शहर के बस अड्‌डे पर एकत्रित होकर मुलाजिमों ने रोष जताते हुए नारेबाजी की। फिरोजपुर की 129 में से 127 बसों के चक्के जाम रहे। सवारियों को परेशानी का सामना करना पड़ा। 44.4 डिग्री पारे में लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। महिलाओं को आधार कार्ड पर सफर करने की सुविधा नहीं मिल पाई।

हड़ताल से फिरोजपुर डिपो को एक दिन का करीब 11.50 लाख रुपए का राजस्व नुकसान हुआ है। फिरोजपुर डिपो के गेट पर कर्मचारियों को संबोधित करते हुए जत्थेबंदी के चेयरमैन रेशम सिंह गिल ने कहा कि ट्रांसपोर्ट विभाग के उच्च अधिकारी संविधान से उल्ट जा कर कच्चे मुलाजिमों के साथ तानाशाही रवैया अपना कर उनका शोषण कर रहे हैं। कच्चे मुलाजिम लंबे रूटों पर बसों में पंजाब की जनता को सफर सुविधा देने के लिए सेवाएं दे रहे हैं।

उनका रोटी पानी तक रास्ते में जबरन बंद करवाया जा रहा है और यदि कोई मुलाजिम किसी भी ढाबे और रास्ते में किसी सवारी को मुश्किल आने पर बस रोकता है तो उसकी रिपोर्ट करके उसको ड्यूटी से बगैर सुनवाई फारिग कर दिया जाता है। कच्चे मुलाजिमों को पक्का करने के सपने दिखा कर बनी आम आदमी की सरकार में अफसरशाही बेलगाम हुई प्रतीत हो रही है।

इस मौके पर नेताओं ने एलान किया कि यदि चंडीगढ़ के मुलाजिमों को ड्यूटी पर न लिया तो पनबस के साथ-साथ पीआरटीसी के डिपो भी बंद किए जाएंगे और ट्रांसपोर्ट विभाग के मुख्य दफ्तर का घेराव किया जाएगा। इस मौके पर कैशियर मुखपाल सिंह, उप प्रधान राजिंदर सिंह, गुरप्रीत सिंह, अमरजीत सिंह, शमशेर सिंह हाजिर थे ।

खबरें और भी हैं...