पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मांग:केंद्र सरकार के गेहूं की बिक्री पर लगाई रोक के खिलाफ शिरोमणि अकाली दल (अमृतसर) ने डीसी को भेजा ज्ञापन

फाजिल्काएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शिरोमणि अकाली दल (अमृतसर) द्वारा बुधवार को 3 राज्यों के किसानों की गेहूं को अंतरराष्ट्रीय बाजार में न ले जाने व न बेचने संबंधी लगाई गई रोक संबंधी जिला प्रशासनिक कांप्लेक्स में डीसी डाॅ. हिमांशू अग्रवाल को प्रधानमंत्री के नाम पर शिअद अमृतसर के प्रांतीय महासचिव जसकरण सिंह की अगुवाई में ज्ञापन सौंपा गया। इस मौके पर महासचिव जसकरण सिंह ने कहा कि पंजाब, राजस्थान व हरियाणा के किसान पहले ही कर्जे के नीचे दबे हुए हैं।

यही कारण है कि इन राज्यों में किसानों द्वारा लगातार खुदकुशियां की जा रही हैं, क्योंकि खाद, कीड़ेमार दवा, डीजल, कृषि औजार व मशीनें लगातार महंगी हो रही है, जबकि किसानों को कृषि करने का लाभ नामात्र मिल रहा है। अब जब राष्ट्रीय मंडी में गेहूं की कीमत में काफी बढ़ावा हुआ है, तो इन तीन प्रांतों के किसानों को अपनी गेहूं का सही मूल्य मिलने की आस थी, लेकिन केंद्र सरकार द्वारा इन प्रांतों के किसानों को आर्थिक रूप से मजबूत करने की बजाय इन प्रांतों की गेहूं को अंतरराष्ट्रीय बाजार में ले जाने या बेचने पर कानूनी रोक लगा दी है।

इससे किसानों में काफी निराशा है। उन्होंने केंद्र सरकार से मांग की कि देश के अन्नदाता के पक्ष में फैसला लेते हुए इस रोक को तुरंत खत्म किया जाए और किसानों की गेहूं की फसल की सरकारी एजेंसियों के जरिए की जाने वाली नीति को निरंतर लागू रखा जाए। इस मौके पर जिला प्रशासन ने विश्वास दिलाया कि शिअद अमृतसर की मांग को केंद्र सरकार तक जरूर पहुंचाया जाएगा।

इस अवसर पर शिअद के जिलाध्यक्ष परमजीत सिंह, हलका इंचार्ज प्रो. हरकिरणजीत सिंह, अबोहर इंचार्ज बलजिन्दर सिंह, बल्लआूना इंचार्ज सुरिन्दर सिंह, जलालाबाद इंचार्ज डाॅ. गुरमीत सिंह, उग्र सिंह, किसान विंग प्रधान नरिन्दर पाल सिंह, महल सिंह, गुरप्रीत सिंह, विकास प्रताप सिंह, प्रदीप सिंह, हरसिमरन सिंह, जश्नप्रीत सिंह, गुरभेज सिंह, अजैब सिंह, प्रभसिरत सिंह, गुरप्रीत सिंह व अन्य उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...