पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX60961.010.06 %
  • NIFTY18153.9-0.13 %
  • GOLD(MCX 10 GM)473800.04 %
  • SILVER(MCX 1 KG)646780.63 %

आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस टीमें रवाना:पेंशन की बकाया राशि बढ़ाने के नाम पर रिटायर्ड अधिकारी से साढ़े 9 लाख की ठगी

मोगाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दशमेश नगर के रहने वाले राजपाल सिंह के साथ हुई ठगी के बारे में जानकारी देते एसएचओ  गुरप्रीत सिंह। - Money Bhaskar
दशमेश नगर के रहने वाले राजपाल सिंह के साथ हुई ठगी के बारे में जानकारी देते एसएचओ गुरप्रीत सिंह।

पेंशन की बकाया राशि बढ़ाने के नाम पर 80 साल के बुजुर्ग पूर्व खाद्य आपूर्ति विभाग के अधिकारी साढ़े नौ लाख रुपए की ठगी के शिकार हो गए। साइबर क्राइम ने सभी 9 आरोपियों की पहचान करने के बाद थाना सिटी वन पुलिस द्वारा शिकायतकर्ता के बयान पर केस दर्ज कर लिया है। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए अलग-अलग पुलिस टीमें दिल्ली, ओड़िशा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश व पश्चिम बंगाल के लिए रवाना हो गई हैं।

थाना सिटी वन के इंस्पेक्टर गुरप्रीत सिंह ने बताया कि शहर के दशमेश नगर निवासी राजपाल सिंह ने 2 दिसंबर 2020 को एसएसपी को दी लिखित शिकायत में आरोप लगाया कि वह खाद्य आपूर्ति विभाग मोगा से 31 दिसंबर 2000 रिटायर हो गया था।

18 दिसंबर 2018 को दिल्ली की मेट्रो कंपनी के नाम पर व्यक्ति ने की थी कॉल, एसएसपी से शिकायत

18 दिसंबर 2018 को उसे दिल्ली की मेट्रो कंपनी का नाम लेकर एक व्यक्ति ने फोन करके बताया कि उनकी पेंशन की बकाया राशि रहती है। राशि बढ़ाने के लिए वो उससे रुपयों की मांग करने लगे, जिसके चलते उसने अपने खाते से रुपए निकाल कर कभी एक हजार रुपए, कभी 2000 रुपए, 5 हजार रुपए, 10000 हजार रुपए उक्त लोगों के खाते में डाले थे।

इसके बाद में उक्त लोगों ने उसे कहा कि 12 लाख रुपए उसे दिया जाएगा, इसके एवज में 6 लाख रुपए इनकम टैक्स की जमा करवाने पड़ेंगे। शिकायतकर्ता द्वारा अपने खाते से रुपए निकाल कर फोन पर बात करने वाले कंपनी के मुलाजिमों के खाते में ऑनलाइन डाल दिए थे। अब तक साढ़े नौ लाख रुपए उक्त लोगों के खाते में ट्रांसफर कर चुका था। इसके बाद उन लोगों ने उससे 6 लाख रुपए की और डिमांड की थी।

लेकिन उसे तब तक समझ आ गया कि उसके साथ ठगी हुई है। उसने उक्त लोगों को रुपए देने के लिए टालमटोल करना शुरू कर दिया। इस उपरांत उसने अपने परिवार को ठगी के बारे में जानकारी देने पर 2 दिसंबर 2020 को एसएसपी को लिखित शिकायत दी। एसपी द्वारा मामले की गंभीरता को देखते हुए जांच साइबर सेल को सौंप दी गई थी। साइबर सेल के डीएसपी सुखविंदर सिंह ने बताया कि शिकायत मिलने के बाद पुलिस की

ओर से बड़े साइंटिफिक ढंग से आरोपियों की पहचान करते हुए रत्नेश निवासी उत्तर प्रदेश, हेम सिंह साउथ वेस्ट दिल्ली, रीबाटी मांझी, चिंटू मुखी निवासी ओड़िशा, अनूप कुमार वेस्ट दिल्ली, मीना अरोड़ा नॉर्थ वेस्ट दिल्ली, मुकेश पाठक नॉर्थ वेस्ट दिल्ली, जतिन कुमार भारती उत्तर प्रदेश, मरतजे कुमार निवासी पश्चिम बंगाल के खिलाफ धारा 420, 66 डी आईटी एक्ट के तहत थाना सिटी वन में केस दर्ज किया गया है। इंस्पेक्टर गुरप्रीत सिंह ने बताया कि आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस द्वारा विभिन्न टीमें बनाकर भेज दी गई हैं।

खबरें और भी हैं...