पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

राबिया के चक्कर में बन गए ISI एजेंट:अमृतसर से 2 जासूस गिरफ्तार; हनीट्रैप में फंसकर 17 साल से लीक कर रहे सेना की जानकारी

अमृतसरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI द्वारा भारतीय नागरिकों को हनीट्रैप में फंसाकर खुफिया एजेंट बनाने का मामला सामने आया है। ऐसे ही दो जासूसों को पंजाब पुलिस के स्टेट स्पेशल ऑपरेशन सेल (SSOC) ने पकड़ा है। इन दोनों को अमृतसर रेलवे स्टेशन के बाहर से गिरफ्तार किया गया। इनमें से एक एजेंट 17 साल से भारतीय सेना की जानकारियां पाकिस्तान भेज रहा था। उसी ने एक और व्यक्ति को अपने जाल में फंसाकर खुफिया जानकारियां जुटाने में लगा दिया।

दोनों रेलवे स्टेशन के बाहर कई सालों से लेमन सोडा बेच रहे थे। SSOC की टीम ने दोनों पाकिस्तानी एजेंट्स को स्पेशल ऑपरेशन के तहत गिरफ्तार किया, लेकिन गिरफ्तारी की पुष्टि नहीं कर रहे। आरोपियों की पहचान कोलकाता के बेनियापुकर गांव स्थित ओस्टागारलेन में रहने वाले जफर रियाज और बिहार के मधुबन जिला स्थित भेजा गांव के शमशाद के रूप में हुई है। दोनों से अमृतसर एयरफोर्स व इंडियन आर्मी की तस्वीरें भी हाथ लगी हैं।

जफर 2005 में गया था पाकिस्तान

रियाज ने पुलिस को जानकारी दी है कि वह 2005 में पाकिस्तान गया था, जहां उसकी मुलाकात राबिया नाम की युवती से हुई। दोनों में प्यार हुआ और दोनों ने शादी कर ली। रियाज का वहां एक्सीडेंट हो गया तो वह वहीं सैटल हो गया। राबिया ने उसकी मुलाकात ISI अधिकारी आवेश से करवाई। कुछ समय बाद राबिया को रियाज अपने साथ भारत ले आया। 17 सालों से वह भारतीय सेना की जानकारियां जुटाकर पाकिस्तान भेज रहा है।

शमशाद को भी किया तैयार

रियाज ने अमृतसर रेलवे स्टेशन के बाहर सोडा बेचने वाले शमशाद को भी साथ मिला लिया। इसके बाद वह और शमशाद दोनों मिलकर भारतीय सेना की जानकारियां जुटाने और उन्हें पाकिस्तान भेजने में जुट गए।

फोन कॉल्स ने खोला राज

SSOC के सामने यह राज कुछ कॉल्स के बाद खुला, जो पाकिस्तान व इन दोनों एजेंट्स के बीच हो रही थी। पंजाब पुलिस के स्पेशल विंग ने इन दोनों पर नजर रखना शुरू कर दिया। जब दोनों के खिलाफ पर्याप्त सबूत मिल गए तो SSOC की टीम ने दोनों को रेलवे स्टेशन के बाहर से गिरफ्तार कर लिया।

राबिया के बारे में जुटा रही जानकारियां

ISI के लिए एजेंट का काम करने वाले रियाज ने पाकिस्तान में राबिया नाम की महिला से शादी की थी और उसे भारत लेकर आया था। अब SSOC की टीम इस राबिया की जानकारियां जुटाने में लगी है। आरोपियों से अभी पूछताछ चल रही है और जल्द इस मामले में और भी गिरफ्तारियां होने की संभावना है।