पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX61308.910.14 %
  • NIFTY18308.10.29 %
  • GOLD(MCX 10 GM)479960.3 %
  • SILVER(MCX 1 KG)61497-0.1 %

पंजाब में ओमिक्रॉन का खतरा:अमृतसर एयरपोर्ट पर इटली से लौटे मां-बेटे की रिपोर्ट पॉजीटिव; दोनों GNDH में दाखिल, जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजे जाएंगे सैंपल

अमृतसरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अमृतसर एयरपोर्ट पर पैसेंजर की जांच करता मेडिकल स्टाफ। - Money Bhaskar
अमृतसर एयरपोर्ट पर पैसेंजर की जांच करता मेडिकल स्टाफ।

अमृतसर एयरपोर्ट पर इटली से लौटे 2 यात्रियों की कोरोना टेस्टिंग के दौरान रैपिड PCR रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद हड़कंप सा मच गया। दोनों यात्री मां-बेटा है। इटली के मिलान से कनेक्टेड फ्लाइट सुबह 9.25 बजे अमृतसर एयरपोर्ट पहुंची। रैपिड PCR रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद दोनों को अमृतसर के ही गुरु नानक देव अस्पताल (GNDH) के आइसोलेशन वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया। तकरीबन छह घंटे बाद दोनों मरीजों के टैस्ट दोबारा लिए जाएंगे।

अमृतसर एयरपोर्ट के डायरेक्टर वीके सेठ के अनुसार, इटली के मिलान की फ्लाइट बुधवार सुबह अमृतसर में लैंड हुई। उसके बाद तय प्रोटोकॉल के अनुसार, सभी यात्रियों के एयरपोर्ट के अंदर ही रैपिड PCRटेस्ट किए गए। इनमें 2 यात्रियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। यह दोनों मां-बेटा हैं।

अमृतसर एयरपोर्ट पर कोरोना टेस्ट के लिए लाइन में खड़े पैसेंजर।
अमृतसर एयरपोर्ट पर कोरोना टेस्ट के लिए लाइन में खड़े पैसेंजर।

रैपिड PCRटेस्ट की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद एयरपोर्ट अथॉरिटी ने तत्काल इसकी जानकारी सेहत विभाग को दी। सेहत महकमे की टीम ने दोनों यात्रियों को गुरु नानकदेव अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भेज दिया। तकरीबन छह घंटे बाद दोनों मरीजों के सैंपल लिए जाएंगे। जिसमें म्यूटेशन की जांच होंगी। अगर उसमें म्यूटेशन ओमिक्रान संबंधी पाया गया तो सैंपल पटियाला मेडिकल कॉलेज में जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेज दिए जाएंगे।

मां की उम्र 39 तो बच्चे की उम्र 10 साल

अमृतसर के असिस्टेंट सिविल सर्जन (एसीएस) डॉ. अमरजीत सिंह ने बताया कि रैपिड PCR टेस्ट में कोरोना पॉजिटिव आने वाले बच्चे की उम्र 10 साल है जबकि उसकी मां की उम्र 39 साल है। इंटरनेशनल यात्रियों के लिए केंद्र सरकार की ओर से जारी गाइडलाइंस फॉलो की जा रही हैं। अभी तक अमृतसर से जीनोम सिक्वेसिंग के लिए सैंपल दिल्ली भेजे जा रहे थे मगर अब पटियाला मेडिकल कॉलेज की लैब में यह टेस्ट शुरू हो गया है। उम्मीद है कि सैंपल भेजे जाने के बाद 48 घंटे में दोनों मरीजों की रिपोर्ट आ जाएगी।