पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

CDS रावत के साथ तरनतारन का जवान भी शहीद:सुरक्षा दस्ते के मेंबर थे दोदे गांव के गुरसेवक सिंह, सेना ने दी खालड़ा थाने में जानकारी

अमृतसर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) बिपिन रावत के बुधवार दोपहर हुए हेलिकॉप्टर क्रैश में तरनतारन का एक जवान भी शहीद हो गया। इस हादसे में जान गंवाने वाले नायक गुरसेवक सिंह तरनतारन जिले के दोदे गांव के रहने वाले थे। बुधवार दोपहर तमिलनाडु के कुन्नूर में दुर्घटनाग्रस्त हुए सेना के हेलिकॉप्टर में CDS बिपिन रावत, उनकी पत्नी मधुलिका समेत सेना के 14 लोग सवार थे। इनमें से 13 लोगों की मौत हो गई जबकि एक की हालत गंभीर है।

CDS बिपिन रावत के साथ इस हेलिकॉप्टर में सवार ज्यादातर आर्मी के जवान उनकी सिक्योरिटी टीम के मेंबर थे। तरनतारन के दोदे गांव के गुरसेवक सिंह भी बिपिन रावत के सुरक्षा दस्ते के सदस्य थे। गुरसेवक सिंह आर्मी की 9 पैरा स्पेशल फोर्स यूनिट में तैनात थे।

हेलिकॉप्टर क्रैश के बाद तमिलनाडु से सेना के अधिकारियों ने बुधवार देर शाम को तरनतारन जिले के खालड़ा थाने के एसएचओ को फोन कर गुरसेवक सिंह के शहीद होने की जानकारी दी। गुरसेवक सिंह का दोदे गांव खालड़ा पुलिस थाने के तहत ही आता है। गुरसेवक सिंह मां का निधन हो चुका है जबकि पिता घर में ही रहते हैं।

परिवार को खुद सेना देगी जानकारी
तरनतारन के एसएसपी हरविंदर सिंह विर्क ने बताया कि आर्मी ने बेशक संबंधित थाने में नायक गुरसेवक सिंह के शहीद होने की जानकारी दे दी है मगर सेना के अधिकारियों ने स्पष्ट कहा है कि फिलहाल यह सूचना गुरसेवक सिंह के परिवार या दोदे गांव में किसी को न दी जाए। सेना के अधिकारी खुद परिवार से संपर्क कर उन्हें गुरसेवक सिंह की शहादत की जानकारी देंगे। हालांकि देर शाम तक गुरसेवक सिंह के परिवार को सोशल मीडिया के जरिए उनके शहीद होने की खबर मिल गई।