पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX58649.681.76 %
  • NIFTY17469.751.71 %
  • GOLD(MCX 10 GM)479790.62 %
  • SILVER(MCX 1 KG)612240.48 %
  • Business News
  • Local
  • Punjab
  • Amritsar
  • After Killing The Child, The Call Was Made For Ransom, In The Afternoon The Body Was Thrown In A Sack And Thrown Into The Canal.

11 साल के लड़के के मर्डर में बड़ा खुलासा:चचेरे भाई के दोस्त ने ही किया किडनैप; 10 दिन दिहाड़ी न मिलने पर पैसे ऐंठने के लिए उठाया और गुस्से में मार डाला, दोपहर बाद मिली लाश

अमृतसर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नंदन के बारे में जानकारी देते हुए पुलिस कमिश्नर विक्रम जीत दुग्गल। - Money Bhaskar
नंदन के बारे में जानकारी देते हुए पुलिस कमिश्नर विक्रम जीत दुग्गल।

अमृतसर में 11 साल के एक लड़के के कत्ल के केस में बड़ा खुलासा हुआ है। उसे उसके चचेरे भाई के दोस्त ने ही किडनैप किया था। पुलिस के हत्थे चढ़ चुके आरोपी का कहना है कि वह 10 दिन से काम नहीं मिलने के चलते परेशान था। पैसे के लिए उसने अपहरण जैसी वारदात को अंजाम दे डाला और फिर फिरौती के लिए फोन भी कर दिया और इसी बीच शोर मचाए जाने पर गुस्से में आकर गला दबा दिया। फिर बोरे में डालकर उसे नहर में फेंक दिया। फिलहाल आरोपी को आज कोर्ट में पेश किया गया और पुलिस को तीन दिन का रिमांड मिला है। वहीं दूसरी तरफ रंजन की लाश बाद दोपहर पुलिस को मिल गई। नहर के पानी के साथ वे कुछ मीटर आगे बहकर चली गई थी।

मृतक बच्चे रंजन की फाइल फोटो।
मृतक बच्चे रंजन की फाइल फोटो।

जानकारी के अनुसार मोहन नगर में रहने वाले परवासी गोरखनाथ का 12 साल का लड़का रंजन मंगलवार शाम को अचानक लापता हो गया। रातभर परिवार रंजन को ढूंढता रहा। बुधवार सुबह 3 लाख रुपए की फिरौती के लिए फोन आया। इसके तुरंत बाद गोरखनाथ ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने कुछ समय बाद ही आरोपी को पकड़ लिया, लेकिन तब तक देर हो चुकी थी। आरोपी नंदन ने पुलिस को बताया है कि रंजन को मारकर उसने नहर में फेंक दिया है। इसके बाद सर्च ऑपरेशन चलाया गया। खबर लिखने तक लड़के के शव को नहर में खोजने की कोशिश जारी है।

रंजन के चचेरे भाई का दोस्त है आरोपी
पुलिस ने जिस आरोपी को पकड़ा है, वह रंजन के चचेरे भाई दीपक का दोस्त है। नंदन का रंजन के घर आना-जाना था। यही कारण है कि रंजन मंगलवार देर रात आराम से उसके साथ चला गया। नंदन ने बताया कि उसने रात रंजन बेहोश कर दिया था, लेकिन जब वह सुबह उठा तो उसे गालियां करना शुरू कर दिया। गुस्से में नंदन ने रंजन का गला दबाकर कत्ल कर दिया। इसके बाद उसने शव को बोरी में डाला और नहर में फेंक दिया। नंदन ने बताया कि वह राजमिस्त्री है। 10 दिन से उसे कोई काम नहीं मिला तो कुछ दिन पहले वह रंजन के घर पर था तो उसे पित गोरखनाथ 40-50 हजार की बात कर रहे थे। उसे लालच आ गया और उसने रंजन को उठाने की प्लानिंग कर ली। वह उसे मारना नहीं चाहता था, लेकिन जब उसने गाली-गलौज किया तो गुस्से में उसने उसका गला दबा दिया। फिलहाल पुलिस ने नंदन को गिरफ्तार कर लिया है और गोताखोर शव की खोज में लगे हुए हैं।

खबरें और भी हैं...