पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

वायदे और आश्वासन के साथ तेज हुआ प्रचार:नगरीय निकाय चुनाव प्रचार में दो दिन शेष , सोमवार शाम से थम जाएगा प्रचार का दौर

उज्जैन2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

उज्जैन। नगरीय निकाय चुनाव के लिए आगामी 6 जुलाई को उज्जैन नगर पालिका निगम के महापौर और 54 वार्ड से पार्षद पद के लिए होने वाले चुनाव को लेकर अब प्रचार जोर पकडऩे लगा है। वायदे और आश्वासन देकर मतदाताओं को लुभा रहे है। दोनों ही दल अब पूरी ताकत वार्ड के गली, मोहल्लों में मतदाताओं से जीवंत सम्पर्क करने में लगा रहे है। प्रत्याशी अपने समर्थकों के साथ घर-घर जाकर दस्तक दे रहे हैं।

नगरीय निकाय चुनाव का शोर अब तेज होता जा रहा है। महापौर पद के कांग्रेस प्रत्याशी महेश परमार पहले ही प्रचार शुरू कर शहर में जनसंपर्क कर लिया है। वहीं भाजपा प्रत्याशी मुकेश टटवाल का प्रचार पार्टी कार्यालय से तय हो रहा है। इसके साथ ही शहर के 54 वार्डों में कांग्रेस और भाजपा के अलावा आप पार्टी व निर्दलीय होकर चुनाव लडऩे वाले प्रत्याशी भी घर-घर पहुंच कर जीवंत जनसम्पर्क करने में ही ध्यान दे रहे है। हालांकि चुनाव प्रचार के लिए अब केवल दो दिन का समय ही शेष बचा है। सोमवार शाम से प्रचार का शोर थम जाएगा।

महिलाएं भी कर रही मतदाता से गुहार

महापौर व पार्षद पद प्रत्याशियों के समर्थकों के साथ उनके परिजन, महिला परिजन भी चुनावी प्रचार में आ गई है। दोनो दलों ने 54 वार्ड से 50 से अधिक महिलाओं को टिकट दिया है। ऐसे में सुबह से ही महिलाएं भी गली मोहल्लों में अन्य महिलाओं के साथ निकल कर सीधे महिला मतदाताओं के पास पहुंचकर वोट की अपील कर रही है।

पार्षद प्रत्याशियों का अपना घोषणा पत्र

नगर निगम चुनाव में वार्डों से पार्षद बनने के लिए एड़ी से चोटी का जोर लगाने वाले प्रत्याशियों ने अपना घोषणा पत्र गली मोहल्लों की आवश्यकता के अनुसार ही तैयार कर लिया है। घोषणा पत्र में वार्ड की साफ-सफाई रोशनी व्यवस्था सड़क निर्माण के साथ-साथ शहरों की तर्ज पर कॉलोनियों में मैन गेट लगाने, सीसीटीवी कैमरे लगाने, वार्डों में सुरक्षा व्यवस्था के साथ ही खुला जीम रखने और वार्ड के अंतर्गत एक एम्बूलेंस 24 घंटे रखने जैसे तमाम वादे किए जा रहे है।

अंतिम दौर के प्रचार में बैठकों का दौर

निकाय चुनाव को लेकर प्रत्याशी दिन-रात एक कर रहे हैं और वोटरों को आश्वासन देकर वोट लेने की जुगाड़ में लगे हैं। प्रत्याशी एवं उनके समर्थक जहां दिन में डोर टू डोर प्रचार कर वोट मांगते दिखाई दे रहे हैं। वही देर रात को भी प्रत्याशी एवं उनके समर्थक गोपनीय तरीके से वोटरों को रिझाने के लिए सेंधमारी में जुटे हुए हैं। मोहल्लों में वरिष्ठों के साथ बैठकों का दौर भी शुरू हो गया है। आने वाले आठ दिनों में वोटरों को रिझाने के लिए कई तरह के प्रयास शुरू होगें। हालांकि इस सब के बाद भी दोनों दल के सदस्य एक-दूसरे प्रत्याशियों द्वारा किए जा रहे क्रिया कलापों पर भी नजर रख रहे है।