पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

दोनों डोज नहीं तो वेतन नहीं:उज्जैन कलेक्टर का नया आदेश, राशन नहीं मिलेगा, नगर निगम में प्रवेश पर भी रोक

उज्जैन10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • महाकाल मंदिर के पुजारी और कर्मचारियों के लिए भी आदेश

जैसे-जैसे कोरोना के दूसरे डोज की पेंडेंसी बढ़ती जा रही है, प्रशासन सख्ती भी करता जा रहा है। दुकानदारों को सामान न देने व होटल लॉज में प्रवेश पर रोक लगाने के आदेश के बाद मंगलवार को कलेक्टर आशीषसिंह ने उज्जैन में शत प्रतिशत वैक्सीनेशन के लिए बड़ा कदम उठाया है। सभी शासकीय कर्मचारी और अधिकारियों को नवंबर माह में अपना वेक्सिनेशन सर्टिफिकेट दिखाने के बाद ही वेतन मिलेग। जिन लोगों ने दूसरा डोज नहीं लगवाया है उन्हें सरकारी राशन भी नहीं मिलेगा। ये आदेश उज्जैन कलेक्टर ने मंगलवार को उन लोगों के लिए निकाला जिन्होंने ड्यू डेट निकल जाने के बाद भी अपना कोरोना की वैक्सीन का दूसरा डोज नहीं लिया है।

उज्जैन में ढाई लाख लोग ऐसे हैं, जिनको नवम्बर माह तक अपना दूसरा डोज लगवा लेना था, लेकिन अलग-अलग बहाने बनाकर कई कर्मचारियों ने अब तक अपना दूसरा डोज नहीं लगवाया है। 18 नवम्बर को 1 लाख 36 हजार टिके लगाने का टारगेट रखा गया है। साथ ही बड़ी संख्या में अन्य लोग भी हैं जिन्होंने अपना दूसरे डोज का वैक्सिनेशन पूरा नहीं किया है। इसको लेकर कलेक्टर आशीष सिंह ने जिला कोषालय अधिकारी को भी आदेशित किया है कि वेतन देयक के साथ वैक्सीनेशन प्रमाण-पत्र जरूर लें।

कलेक्टर ने कहा कि उनके संज्ञान में आया है कि जिले में शासकीय सेवकों द्वारा अभी तक वैक्सीनेशन का द्वितीय डोज नहीं लगवाया है। इन सभी नवम्बर माह का वेतन तभी जारी किया जाये जब ये सभी अपना फाइनल सर्टिफिकेट दिखा दें। इसी तरह राशन प्राप्त करने वाले हितग्राही को भी आदेशित किया गया है की जब तक दूसरा डोज नहीं लगेगा तब तक राशन नहीं मिलेगा।

नगर निगम कार्यालय के बाहर नोटिस लगाकर दूसरा डोज न लगवाने वाले सभी कर्मचारियों के प्रवेश पर रोक लगा दी।
नगर निगम कार्यालय के बाहर नोटिस लगाकर दूसरा डोज न लगवाने वाले सभी कर्मचारियों के प्रवेश पर रोक लगा दी।

कलेक्टर आशीष सिंह ने कहा कि जिले के समस्त शासकीय कर्मचारी 30 नवम्बर तक हर हालत में वैक्सीनेशन का दूसरा डोज लगवा लें। जिले के समस्त विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिया है कि प्रत्येक कर्मचारी के द्वितीय वेक्सीनेशन डोज की जानकारी जिला कोषालय अधिकारी को उपलब्ध करायें। माह नवम्बर से बिना वेक्सीनेशन प्रमाण-पत्र के वेतन नहीं दिया जाएगा।

महाकाल के पंडे-पुजारियों के लिए भी जरूरी -
महाकाल मंदिर से जुड़े कर्मचारी और और पण्डे पुजारियों के लिए भी 18 नवम्बर को महा अभियान के दिन सर्टिफिकेट चेक कर उसी दिन टीके का दूसरा डोज लगवाया जाएगा। साथ ही आने वाले श्रद्धालुओं के लिए भी यही व्यवस्था रहेगी।

नगर निगम ने कर्मचारियों का प्रवेश रोका -
नगर निगम कमिश्नर ने एक आदेश जारी कर दूसरा डोज नहीं लगवाने वाले कर्मचारियों को मंगलवार को मुख्य दरवाजे पर ही रेाक दिया। जब तक कर्मचारियों ने वैक्सीन के दूसरे डोज का प्रमाण पत्र नहीं दिखाया, तब तक अंदर नहीं जाने दिया गया। इस संबंध में एक कर्मचारी को चैनल गेट पर ही खड़ा कर दिया था।

खबरें और भी हैं...