पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

स्मार्ट सिटी:एलईडी लाइटिंग से दमकेगा टावर, संगीत के अनुसार बदलेंगे रंग

उज्जैन5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कालभैरव मंदिर। - Money Bhaskar
कालभैरव मंदिर।
  • पर्यटकों के आकर्षण के लिए शहर में सजावट और सौंदर्यीकरण की शुरुआत, महामृत्युंजय द्वार पर हो गई लाइटिंग

उज्जैन तीर्थ को पर्यटकों के लिए आकर्षक बनाने का काम स्मार्ट सिटी कर रही है। इस क्रम में शहर के प्रमुख स्थानों पर रंग-बिरंगी लाइटिंग की जा रही है। इस क्रम में महामृत्युंजय द्वार के बाद टावर को सजाने का काम शुरू हो गया है। महामृत्युंजय द्वार पर इस तरह की लाइटिंग की गई है कि वह रात में अलग दिखाई देता है।

द्वार के दोनों तरफ से लाइटिंग की गई है तथा भीतरी हिस्सों पर लाइट इफैक्ट डाले गए हैं। अब टीम टावर पर काम कर रही है। इसके पहले महाकालेश्वर मंदिर, हरसिद्धि और कालभैरव पर भी लाइटिंग की गई है। इसके कारण रात में इन मंदिरों का आकर्षण बढ़ा है।

लाइटिंग में लाल, हरी, सफेद और नीली एलईडी के साथ अन्य तरह की लाइटिंग का उपयोग किया गया है। इससे मंदिरों के विभिन्न हिस्से अलग तरह की लाइट से दमकते हैं। दर्शनार्थी लाइटिंग का आनंद भी ले रहे हैं। निगमायुक्त व स्मार्ट सिटी ईडी अंशुल गुप्ता के अनुसार शहर पर्यटकों के लिए आकर्षक बने, इस दिशा में यह प्रयास किया जा रहा है।

एलईडी से चित्र और संदेश भी प्रदर्शित करेंगे

टावर पर वायरिंग और लाइट लगाने का काम चल रहा है। टावर के शिखर पर इस तरह की लाइटिंग होगी कि उससे विभिन्न चित्र और संदेश दिखाए जा सकें। नीचे की तीनों मंजिलों पर इस तरह की लाइट होगी जो त्योहार या खास अवसरों पर बदली जा सकेगी।

यानी 26 जनवरी और 15 अगस्त पर तिरंगी तथा दीपावली पर दीपकों की रोशनी दिखाई देगी। लाइटिंग को साउंड से भी जोड़ा जाएगा। लाइट के साथ साउंड सिस्टम भी लगेगा। जिस तरह के गाने या भजन बजेंगे, उसके साउंड के आधार पर लाइटिंग भी बदलेगी। यह काम 26 जनवरी के पहले पूूरा किया जाएगा।

निर्माण के चलते दो मंदिरों का काम रोका

विद्युत सज्जा में चिंतामन गणेश और मंगलनाथ मंदिर भी शामिल किए गए हैं। लेकिन दोनों जगह निर्माण कार्य चलने से अभी वहां काम नहीं किया जा रहा है। निर्माण पूरा होने के बाद वहां लाइटिंग का निर्णय लेंगे। महाराज वाड़ा, कोठी और ग्रांड होटल भवन पर भी लाइटिंग की जाना थी लेकिन कोठी और ग्रांड होटल पर्यटन निगम को देने के प्रस्ताव तथा महाराजवाड़ा को हेरिटेज धर्मशाला बनाने का काम स्मार्ट सिटी की अन्य योजना में शामिल होने से वहां भी फिलहाल काम नहीं हो रहा।

खबरें और भी हैं...