पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57200.23-0.13 %
  • NIFTY17101.95-0.05 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47875-1.15 %
  • SILVER(MCX 1 KG)61247-2.76 %
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • Money Was Deducted In Online Permission But Permission Was Not Received, 50 Such Devotees, Collector Said Everyone Will Get Money Back

भस्म आरती की अनुमति में दिक्कत:ऑनलाइन परमिशन में 50 श्रद्धालुओं के पैसे कटे, लेकिन अनुमति नहीं मिली, कलेक्टर बोले- सभी को वापस होगा पैसा

उज्जैन5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

17 माह बाद भस्म आरती श्रद्धालुओं के लिए खुल गई। इसके लिए ऑनलाइन परमिशन की जरूरत होगी। श्रद्धालुओं को भस्म आरती की परमिशन लेने में दिक्कत हो रही है। दरअसल, कई भक्तों ने वेबसाइट पर ऑनलाइन परमिशन के लिए आवेदन किया। जानकारी भरने के बाद 100 रुपए खाते से कट गए, लेकिन परमिशन का कंफर्मेशन नहीं मिला। ऐसा करीब 50 श्रद्धालुओं के साथ हुआ है। मामला कलेक्टर तक पहुंचा, तो उन्होंने सभी श्रद्धालुओं राशि को वापस लौटाने का कहा है।

11 सितंबर से शुरू होने वाली भस्म आरती के लिए 7 सितंबर से ऑनलाइन बुकिंग शुरू की गई है। जैसे ही, देश भर के भक्तों को इसकी जानकारी लगी, वैसे ही बड़ी संख्या में श्रद्धालु महाकाल मंदिर की वेबसाइट WWW.MAHAKALESHWAR.NIC.IN पर बुकिंग करने लगे। 4 दिनों में ही कई भक्तों से साथ हुई बड़ी गड़बड़ी सामने आई है। घर बैठे भस्म आरती की बुकिंग कर रहे श्रद्धालुओं की राशि बैंक से काट गई, लेकिन परमिशन नहीं मिली।

उत्तर प्रदेश के झांसी निवासी नरेश सुमन ने 3 साथियों के साथ 13 सितंबर की भस्म आरती की बुकिंग कर रहे थे, लेकिन दो बार 400-400 रुपए कटने के बाद भी बुकिंग नहीं हो पाई। कुल 800 रुपए कटने के बाद सुमन ने भस्म आरती में शामिल होने की जगह 13 सितंबर को ही सामान्य दर्शन करेंगे। हालांकि इसकी शिकायत मंदिर प्रशासक सुजान सिंह रावत को भी की गई है।

कलेक्टर आशीष सिंह ने कहा है कि पेमेंट गेटवे की दिक्कत पहले भी आई है। इसे दिखवा रहे हैं। ऐसे 50 भक्त हैं, जिनकी राशि कट गई, लेकिन परमिशन नहीं मिली। जल्द ही, ऐसे लोगों से उनकी जानकरी मांगी है। ऐसे सभी लोगों को राशि वापस कर दी जाएगी। इधर, आशीष सिंह ने महाकाल मंदिर के आईटी इंचार्ज अधिकारियों को जल्द ही पेमेंट गेटवे में सुधार करने के निर्देश दिए हैं।

17 महीने बाद भस्मारती में शामिल हुए श्रद्धालु:महाकाल की भस्मारती में अरसे बाद श्रद्धालुओं के जयकारे से गूंजा मंदिर; देशभर से 696 भक्त शामिल हुए