पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57107.15-2.87 %
  • NIFTY17026.45-2.91 %
  • GOLD(MCX 10 GM)481531.33 %
  • SILVER(MCX 1 KG)633740.45 %

पक्षियों का आशियाना:उज्जैन में 55 फीट ऊंचे दाे पक्षीघर तैयार, दो हजार पक्षियों का होगा बसेरा

उज्जैन2 महीने पहलेलेखक: ओमप्रकाश सोणोवणे
  • कॉपी लिंक
उज्जैन में दो नए पक्षीघर तैयार हो गए हैं। 55 फीट ऊंचे पक्षीघर में 2 हजार पक्षियों को बसेरा मिल जाएगा। - Money Bhaskar
उज्जैन में दो नए पक्षीघर तैयार हो गए हैं। 55 फीट ऊंचे पक्षीघर में 2 हजार पक्षियों को बसेरा मिल जाएगा।

उज्जैन में दो नए पक्षीघर तैयार हो गए हैं। 55 फीट ऊंचे पक्षीघर में 2 हजार पक्षियों को बसेरा मिल जाएगा। इसके ऊपरी हिस्सों के घरों में पक्षियों ने आना-जाना शुरू कर दिया है। मोरवी (गुजरात) के श्रीराम कबूतर घर ट्रस्ट ने इनका निर्माण कराया है। जमीन प्रशासन ने उपलब्ध कराई है।

ट्रस्ट के प्रमुख वाघजी भाई के अनुसार उन्हें यह प्रेरणा कबूतरों का आशियाना उजड़ जाने को देखकर मिली थी। वे 40 साल से देशभर में पक्षीघर बनवा रहे हैं। अब तक एक हजार से ज्यादा पक्षीघर बनवा चुके हैं, जिनमें सोमनाथ, नागेश्वर, डाकोरजी आदि प्रमुख हैं। पक्षीघर में 650 घोंसले हैं। एक घोंसले में दो-तीन पक्षी रह लेते हैं। इनके लिए दाना या तो जमीन पर डाला जाता है या वे कहीं से चुगकर आने के बाद यहां विश्राम करते हैं।

प्राकृतिक आशियाने उजड़े, अब यही घर पंछियों का सहारा

मंगलनाथ मंदिर के पुजारी महंत राजेंद्र भारती का कहना है कि जंगल खत्म होने से पक्षियों के प्राकृतिक घोंसले उजड़ रहे हैं। गौरेया गायब हो गई। तोते नहीं दिखते। कौए तक नहीं मिलते। यह नए तरह के इंतजाम पक्षियों को आसरा देंगे।