पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आगर मालवा में फिर मिले मृत 4 कौए:दुकानें बंद होने से मटन मार्केट में रहा सन्नाटा, नपा ने निगरानी के लिए बैठा रखे थे कर्मचारी

आगर मालवा7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मृत कौओं को बोरे में रखता नपा कर्मचारी। - Money Bhaskar
मृत कौओं को बोरे में रखता नपा कर्मचारी।

आगर मालवा में रविवार को मृत पाए गए कौए में बर्ड फ्लू पॉजिटिव पाए जाने के बाद नपा द्वारा बंद कराए गए मटन मार्केट में बुधवार को सन्नाटा रहा। नपा ने मार्केट के बाहर बेरीकेट भी लगा दिए थे। उसके बाद भी लोग यहा गाड़ियों से आ कर चक्कर लगाते रहे। दो अलग-अलग स्थानों पर 4 कौए मृत मिले। बीते 4 दिनों में मृत हुए कौओं की संख्या 52 हो चुकी हैं।

मटन मार्केट के पास बना हुआ है हॉट स्पाट

शहर में अब तक जो 52 कौए मृत मिले हैं, उनमें से आधे कौए मटन मार्केट क्षेत्र में मृत पाए गए थे। बुधवार को मटन मार्केट में 3 तथा सरस्वती शिशु मंदिर परिसर में एक कौआ मरणासन्न स्थिति में मिला जो कुछ देर बाद मृत हो गया।

बंद मार्केट की नपा कर्मचारी कर रहे निगरानी

मंगलवार को मृत कौए में बर्ड फ्लू की पुष्टि होने के बाद नपा ने नोटिस देकर मटन मार्केट में लगने वाली 38 दुकानों को बंद करा दिया था। हालांकि बंद कराने गए नपा कर्मचारियों को कुछ मछली विक्रेता, जिनमें महिलाएं भी थी के विरोध का सामना करना पड़ा। लेकिन नपा कर्मचारियों ने फिर भी दुकानें बंद करा दीं।

दुकानें बंद कराने के साथ ही मटन मार्केट में आने-जाने वाले लोगों को रोकने के लिए स्टापर लगाकर रास्ता बंद किया गया था। इसके बाद भी लोग बैरिकेट हटाकर मटन मार्केट में मांस मछली खरीदने के लिए घुमते नजर आए। कोई दुकानदार चोरी-छिपे मांस का विक्रय न कर दे इसके लिए नपा ने कर्मचारियों को मार्केट में तैनात किया था।

भोपाल से नहीं आई मुर्गा, मुर्गियों की जांच रिपोर्ट

गत दिनों उज्जैन से आई पशुपालन विभाग की संभागीय रोग अनुसंधान प्रयोगशाला की टीम ने शहर से जो 21 मुर्गा-मुर्गियों के सैंपल लिए थे, उसकी जांच रिपोर्ट बुधवार को भी प्राप्त नहीं हुई। पशुपालन विभाग के डॉ. अंकित जैन ने बताया कि रिपोर्ट कब आएगी, यह नहीं कह सकते। लेकिन जल्द रिपोर्ट आने का अनुमान हैं।

अधिकारियों को कड़ी निगरानी रखनी होगी

सूत्र बताते हैं कि मटन मार्केट की दुकानें बंद कराए जाने के बाद कई व्यापारी अपना आवश्यक सामान घर ले जा चुके हैं। ऐसे में यह भी आशंका जताई जा रही है कि ये लोग चोरी-छिपे घर से ही व्यापार न करने लगें। यदि ऐसा हुआ तो इसके गंभीर परिणाम हो सकते हैं।

इसलिए नपा व अधिकारियों को कड़ी निगरानी रखनी होगी। क्योंकि पिछले साल जब बर्ड फ्लू के दौरान दुकानें बंद कराई गई थीं तो कई लोगों ने चोरी-छिपे मांस विक्रय करना शुरू कर दिया था। ऐसी स्थिति इस बार न बने, इसलिए नपा व प्रशासन को सतर्कता बरतनी होगी।