पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोतवाली पुलिस को मिली सफलता:फर्जी मामले में फसाने की धमकी देकर लूट की वारदात, पुलिस ने फर्जी पत्रकार सहित एक अन्य अपराधी किया गिरफ्तार

सिंगरौलीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सिंगरौली जिले के कोतवाली पुलिस ने एक गिरोह के दो सदस्यों को गिरफ्तार किया है। यह ऐसे व्यक्ति को अपना शिकार बनाते थे जो खासकर ग्रामीण इलाके के होते हैं।

मामला जिले के कोतवाली थाना क्षेत्र के बैढन के आस पास के इलाके का है। जहां बैंक से पैसा निकालकर जगमोहन सिंह अपने घर बंधा जा रहे थे। आरोपियों ने बीच रास्ते में जगमोहन को रोककर बोले कि कल कचनी गांव मे मर्डर हो गया है। हम लोग गवाही देंगे कि मर्डर तुमने किया है। अगर बचना चाहते हो तो 40 हजार रुपए दे दो। जगमोहन सिंह डर गया और 25 हजार रुपए दे दिए और अपने घर आ गया। बाद पता चला कि कचनी में कोई मर्डर हुआ ही नहीं हुआ है। जिसके बाद कोतवाली थाने में आकर शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने मामला दर्ज कर मंगलवार को आरोपियों को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे भेज दिया।

कोतवाली थाना प्रभारी अरुण पाण्डेय ने बताया कि डरा धमका कर लूट की वारदात को अंजाम देने वाले जितेंद्र शर्मा उम्र 28 वर्ष निवासी तेलाई व विवेक शुक्ला उम्र 30 वर्ष पिता दिनेश चंद्र शुक्ला निवासी पचौर को गिरफ्तार किया है। दोनों आरोपियों के धारा 389, 34 के तहद मामला दर्ज किया है। जितेंद्र शर्मा आदतन अपराधी है, इसके पहले भी लूट की घटना के मामले में जेल जा चुका है। विवेक शुक्ला सोशल मीडिया पर पत्रकार बनकर ब्लैकमेल करने का काम करता था।

ASP अनिल सोनकर ने बताया कि वैसे तो सोशल मीडिया का जमाना आ गया तब से जिले में पत्रकारों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। ऐसे में कुछ ऐसे भी अपराधी इस पेशे में शामिल हो गए हैं जो पत्रकारिता की आड़ में ब्लैकमेल व अन्य अपराध की वारदात को अंजाम देते हैं। पुलिस अब ऐसे लोगों की कुंडली खंगाल रही है, जो इस तरह से फर्जी पत्रकार बनकर लोगों से अवैध वसूली व अन्य अपराध की घटना को अंजाम देते हैं। जल्द ही ऐसे लोगों पर पुलिस शिकंजा कसने जा रही है ।

खबरें और भी हैं...