पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57276.94-1 %
  • NIFTY17110.15-0.97 %
  • GOLD(MCX 10 GM)48432-0.52 %
  • SILVER(MCX 1 KG)62988-1.1 %

सीधी में शावकों संग बाघिन:नन्हें शावकों की अठखेलियां देखने घंटों रुके पर्यटक, बोले- इसी सपने के साथ, यहां आए थे

सीधी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
संजय टाइगर रिजर्व में बाघिन - Money Bhaskar
संजय टाइगर रिजर्व में बाघिन

संजय टाईगर रिजर्व के प्राकृतिक सौन्दर्य, घने जंगल, बारहमासी जल उपलब्धता वाली नदियां, बाघों और वन्यप्राणियों के अनुकूल वातावरण होने के कारण मादा बाघ टी- 18 की संजय टाईगर रिजर्व में बाघों के कुनबे को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका है। वहीं ये बाघिन रिजर्व में आने वाले पर्यटकों के आकर्षण का केन्द्र भी है। टी- 18 परिक्षेत्र दुबरी के बघनार नाला के पास 4 शावकों के साथ बीते सोमवार 15 नवंबर को पर्यटकों के सामने नन्हें शावकों की अठखेलियों को देखकर पर्यटकों ने रिर्जव के प्रबंधन की तारीफ करते हुए कहा कि संजय टाईगर रिजर्व सीधी को भविष्य में प्रदेश को टाईगर स्टेट का दर्जा दिलाएगा। इसी के साथ देश के बाहर भी विदेशों में पहचान बनाएगा। पर्यटकों का कहना है कि हम घर से यही सोच कर आए थे कि हम बाघों को देख सकें। लेकिन जब यहां आए तो हमने जो सोचा भी नहीं नहीं था, वो देखने को मिला। अब बहुत खुशी मिल रही है।

वर्तमान में संजय टाइगर रिजर्व में 14 वयस्क नर और मादा के अतिरिक्त 4 अवयस्क शावक, 3 शावक लगभग 10 माह के तथा 7 शावक 1-2 माह के हैं। जो स्वछन्द विचरण करते हुए प्राकृतिक रहवास में रहकर संजय टाइगर रिजर्व की सुन्दरता में बढ़ाते हैं।