पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

'नेकी की दीवार' अनदेखी का शिकार:यहां रखे कपड़ें और चीजों पर चढ़ी धूल की परत, सीधी प्रशासन का नहीं कोई ध्यान

सीधी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सीधी में कलेक्ट्रेट के सामने कॉफी हाउस के बाहर नगर पालिका द्वारा नेकी की दीवार की व्यवस्था विगत वर्ष बनाई गई थी। शुरू में व्यवस्थाओं को लेकर सजगता दिख रही थी, बाद में इसको पूरी तरह से भुला दिया गया।

नतीजतन नेकी की दीवार के बनाए गए बड़े शेड के अंदर लोग कपड़े अवश्य रख रहे हैं पर यहां डाले गए कपड़े उचित इंतजाम न होने के कारण धूल की परतों के बीच खराब हो रहे हैं। और इसके कारण जरूरतमंद इसका उपयोग नहीं कर रहें।

दो वर्ष पूर्व शहर के कई स्थानों में नेकी की दीवार की व्यवस्था बनाई गई थी। नेकी की दीवार की व्यवस्था बनाने की मुख्य मंशा ये थी कि हर घर में कुछ सामग्री ऐसी होती हैं जिसकी जरूरत परिवार को समय के साथ नहीं पड़ती। पर काफी ऐसे लोग भी हैं जिनके लिए यह सामग्री काफी आवश्यक होती है।

इसी वजह से नेकी की दीवार में बनाए गए शेड के नीचे व्यवस्थित तरीके से लोग अपने घर की अनुपयोगी अच्छी हालत में मौजूद सामग्री को दूसरों के लिए रख सकते हैं। वहीं जिनके लिए यहां रखी गई सामग्री उपयोगी है वो बिना किसी झिझक के यहां से यह सामग्री ले सकते हैं।

इसको लेकर आरंभ में लोगों में काफी उत्साह भी दिखा। रोजाना काफी सामग्री नेकी की दीवार में लोग छोड़ रहे थे जिसमें सबसे ज्यादा पुराने कपड़ों के साथ ही बच्चों के खिलौने एवं अन्य सामग्री शामिल थी। धीरे-धीरे नेकी की दीवार की व्यवस्था देखने वाले नगर पालिका के संबंधित अमले द्वारा इसकी अनदेखी शुरू कर दी गई।

फिर से व्यवस्थित करने की आवश्यकता

इन अव्यवस्थाओं के बीच नेकी की दीवार को फिर से व्यवस्थित कराने की आवश्यकता है। जिससे जो लोग अपने घर से यहां सामान रखने के लिए आते हैं उन्हें भी संतोष रहे कि वो सामान जरूरतमंदों के काम आ सकेगा। इसके लिए नेकी की दीवार स्थल पर ऊंचा एवं व्यवस्थित चबूतरा भी बनाया जा सकता है। जिससे धूल यहां तक न पहुंचे।

खबरें और भी हैं...