पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX59037.18-0.72 %
  • NIFTY17617.15-0.79 %
  • GOLD(MCX 10 GM)48458-0.16 %
  • SILVER(MCX 1 KG)646560.47 %

MP में मायावती ने 'बसपा पुलिस' उतारी!:16 जवानों को फुल ड्रेस में थ्री स्टार लगाकर तैनात किया; पुलिस हैरान, अफसर बोले- कार्रवाई होगी

सीधी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मायावती (बहनजी) की पुलिस। जी, चौंकिए मत। यह सच है, मायावती की पार्टी बसपा मध्यप्रदेश में खुद की पुलिस तैनात करेगी। इसके लिए योग्यता की जरूरत नहीं है। सिर्फ जोश ही काफी है। पुलिसवालों के कंधों पर स्टार भी नजर आने लगे हैं। हालांकि, उन्हें हथियार नहीं दिए गए हैं। वे डंडा लेकर ड्यूटी करेंगे। बसपा ने सीधी एसपी पंकज कुमावत को आवेदन देकर अपनी पुलिस मैदान में उतारने की अनुमति मांगी है।

बीएसपी पुलिस के अमले में थाना प्रभारी से लेकर कॉन्स्टेबल तक हैं। अनुमति मांगने के पहले ही सीधी की सड़कों पर कंधे पर 2 से लेकर 3 स्टार वाले अधिकारी और थाना प्रभारी सड़कों पर उतर आए। सड़क पर उतरे एक पुलिसकर्मी ने तो सैल्यूट तक मार दिया।

हमारे लोगों की रक्षा के लिए हमारी पुलिस
बहुजन समाजवादी पार्टी के जिला अध्यक्ष रामखेलावन रजक ने बताया है कि हमारे साथ अत्याचार होता है। हम लोगों ने अपने लिए सुरक्षा के इंतजाम खुद किए हैं। अपने राष्ट्रीय नेतृत्व को ध्यान में रखते हुए खुद की पुलिस बनाई है और उनमें थाना प्रभारी से लेकर कॉन्स्टेबल तक हैं।

कानूनी कार्रवाई करेंगे

पूरे मामले में एएसपी अंजूलता पटले का कहना है कि बसपा ने अपनी पुलिस बनाने को लेकर आवेदन दिया है। आवेदन के जरिए सभी की नियुक्ति की मांग की गई है। उनका कहना है कि यह हमारी पार्टी की रक्षा करेगी। वास्तविकता में कानून में ऐसा कोई प्रावधान नहीं है, जो कोई भी राष्ट्रीय पार्टी या क्षेत्रीय पार्टी अपने लिए खुद की पुलिस की तैनाती कर दे। अगर उन्होंने नियम के विपरीत जाकर ऐसा कोई कृत्य किया है तो नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

डंडा लेकर चलेगी बहनजी की पुलिस
बसपा जिला अध्यक्ष रजक का कहना है कि राष्ट्रीय नेतृत्व ने जिले में 16 लोगों की भर्ती का कहा था। सभी की भर्ती हो चुकी है। इसमें 3 टीआई और 4 टू स्टार शामिल हैं। इसमें कार्यशैली और जोश को कॉन्स्टेबल और टीआई की पोस्ट का आधार बनाया गया है। वहीं, योग्यता का कोई प्रश्न नहीं है। पुलिस ट्रेनिंग के साथ ही अभी मानदेय को लेकर कुछ फिक्स नहीं हुआ है। इन्हें हथियार नहीं दिए जाएंगे। ये डंडा लेकर सड़कों पर उतरेंगे।