पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Sidhi
  • MP Riti Pathak Said Immediate Action Will Be Taken Against The Officials Guilty In Land Acquisition; Warning To Officials

रेलवे में अधिग्रहीत जमीन में डबल पेमेंट का मामला:सांसद रीति पाठक ने कहा- भू-अर्जन में दोषी अधिकारियों पर तत्काल कार्रवाई होगी; अधिकारियों को चेतावनी

सीधी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

रेलवे में अधिग्रहीत जमीन में 4 करोड़ से अधिक राशि के डबल पेमेंट मामले ने अब तूल पकड़ लिया है। इस मामले पर सीधी सांसद रीती पाठक ने स्पष्ट लहजे में कहा है कि जो भी दोषी होगा उस पर जांच कराकर तत्काल कार्रवाई की जाएगी।

हालांकि इस मामले में सत्ताधारी दल के एक विधायक ने दोषियों पर कार्रवाई कराने के वजाय बचाव पक्ष में बयान दिए थे। जिस पर सांसद ने स्पष्ट लहजे में अब ये कह दिया है कि इसकी हम विधिवत जांच कराएंगे। जो भी दोषी होंगे उन्हें बक्शा नहीं जाएगा।

गौरतलब है कि ललितपुर-सिंगरौली रेल लाइन को लेकर तरह-तरह की विसंगतियां बनी हुई हैं। कहीं मुआवजा वितरण का रोड़ा बना है तो जहां मुआवजा मिला भी वहां भी डबल पेमेंट की शिकायत सामने आई हैं।

जिला मुख्यालय के समीपस्थ ग्राम पंचायत नौढ़िया में करीब दर्जन भर लोगों को डबल पेमेंट एक ही खसरा नम्बर पर हो चुका है। ये मामला अब तूल पकड़ने लगा है। वहीं जिम्मेदार अधिकारी एक-दूसरे पर पल्ला झाड़कर मामले से बचते नजर आ रहे हैं।

कुल मिलाकर इस मामले में तत्कालीन पटवारी से लेकर तहसीलदार, एसडीएम व अपर कलेक्टर सहित कलेक्टर भी दोषी माने जा सकते हैं। मामला दो-चार लाख का नहीं बल्कि चार करोड़ से ज्यादा का है। यदि इस तरह का फर्जीवाड़ा किया गया तो भू-स्वामी जिन्होंने राशि आहरित की उनके अलावा जिम्मेदार अधिकारी पर भी कार्रवाई होनी चाहिए।

खसरा नम्बर 838 की जमीन पर इन्होने लिए डबल पेमेंट

जिला मुख्यालय के समीपी ग्राम पंचायत नौढिय़ा व मधुरी के बीच में रेलवे स्टेशन का निर्माण कार्य होना है। जहां पूर्व में खसरा नम्बर 838 की जमीन रघुराज सिंह पिता शंकर सिंह, सरस्वती सिंह पति रघुराज सिंह व ज्योति सिंह पति ऋतुराज सिंह के नाम थी। इसकी मुआवजा राशि 4 करोड़ एक लाख 67 हजार 324 रूपए तैयार किया गया पर धारा 11 के प्रकाशन के बाद इस जमीन का बटांकन कर परीक्षित सिंह पिता वीरेन्द्र सिंह, शैलेन्द्र सिंह पिता ऋतुराज सिंह, विमला सिंह पति अशोक सिंह, सर्वजीत सिंह पिता सवाईलाल सिंह, कमला सिंह पिता शैलेन्द्र सिंह, प्रभाकर सिंह पिता परमील सिंह, नीलम सिंह पिता राजेन्द्र सिंह, प्रियता सिंह पति प्रभाकर सिंह, दिनेश सिंह पिता परमील सिंह, वीरेन्द्र सिंह पिता राघवेन्द्र सिंह, विजया देवी पति वीरेन्द्र सिंह, महेन्द्र सिंह पिता भानू सिंह, अमित कुमार सिंह पिता नारेन्द्र प्रताप सिंह, गणेश कुमार सिंह पिता शिवकुमार सिंह व सीमा सिंह पति गणेश कुमार सिंह के नाम बटांकन करते हुए दोवारा खसरा क्रमांक 838 जमीन का 8 करोड़ 66 हजार 460 रूपए आहरित कर लिया गया। जानकारों का कहना है कि यदि मामले की निष्पक्षता से जांच करवाई गई तो कई अधिकारी बेनकाब हो सकते हैं।

जांच के बाद कलेक्टर ने किया था आवेदन निरस्त

इस पूरे मामले में नौढिय़ा पंचायत में डबल पमेंट का मामला कलेक्टर/भू-अर्जन अधिकारी सीधी सहित दीपक मुके उप मुख्य अभियंता रीवा पश्चिम मध्य रेलवे तक पहुंचा था जिनके द्वारा दिनांक 16/06/2021 को कलेक्टर/भू-अर्जन अधिकारी सीधी को पत्र जारी कर सूचित किया गया था कि नौढ़िया गांव में किए जा रहे अतिरिक्त भू-अर्जन में बहुत अनियमितताएं की जा रही हैं। शिकायत के अनुसार भूमि खसरा क्रमांक 838 के भूमि का विभाजन धारा 11 के प्रकाशन के पश्चात किया गया है जो नियम विरूद्ध है।

उपखंड अधिकारी व भू अर्जन अधिकारी गोपद बनास जिला सीधी द्वारा अवार्ड आदेश दिनांक 28 अक्टूबर 2019 में आपत्तियों का निराकरण करते मूल खसरा क्रमांक 838 से विभाजित खसरा क्रमांक 838/1/3/4/2 वहीं 838/1/4/3, 838/1/4/4, 838/1/4/5, 838/1/4/6, 838/1/4/7, 838/1/1/7, 838/1/1/7, 838/1/1/7, 838/1/3/1, 838/1/3/2, 838/1/3/3, 838/1/3/4, 838/1/3/5, 838/1/3/6, 838/1/3/7, 838/1/3/7, 838/1/3/8, 838/1/3/9, 838/1/1/1, 838/1/1/5, 838/1/1/6, 838/1/1/7 इत्यादि को निरस्त किया गया है एवं ऐसा ज्ञात हुआ है कि जिनकी आपत्ति निरस्त की गई है उनका मुआवजा पुन: बनाया जा रहा है। अवार्ड में हो रही अनियंमितताओं की वजह से रोक लगाई गई है।

मामले में दोषियों पर होगी कार्रवाई- सांसद

सीधी सांसद रीती पाठक ने कहा कि हमें तो इसकी जानकारी ही नहीं थी लेकिन यदि गलत हुआ है तो इस पूरे परियोजना में मेरा कर्तव्य एवं जिम्मेदारी रहती है कि ईमानदारी के साथ काम हो। जिन्होनें भ्रष्टाचार किया है चाहे जो भी हों उसके खिलाफ निश्चित रूप से कार्यवाही की जाएगी। जो भी दोषी होंगे उन्हें बक्शा नहीं जाएगा। इस डबल पेमेंट के मामले की जांच कराकर दोषियों पर कार्यवाही हर हाल में कराई जाएगी।

खबरें और भी हैं...