पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

युवा टीटीआई एनएस मूर्ति ने बनाया रिकॉर्ड:1 दिन में अकेले ही 233 यात्रियों से वसूला 1.74 लाख जुर्माना; बीते साल भी बनाया था ऐसा ही रिकॉर्ड

शहडोलएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

रेलवे के वाणिज्यिक कार्यालय में पदस्थ एक युवा टीटीआई ने यात्री ट्रेनों में टिकट चेकिंग करते हुए। बिना टिकट यात्रा कर रहे यात्रियों से जुर्माना वसूल कर, रेलवे को राजस्व लाभ पहुंचाते हुये रिकॉर्ड कायम किया है। उन्होंने एक दिन में 233 यात्रियों से 1.74 लाख रुपए अर्जित कर रेलवे को लाभ पहुंचाया है।

टीटीआई एनएस मूर्ति (बाबू) बिलासपुर रेलवे जोन के पहले ऐसे टीटीई बन गए हैं, जिन्होंने बिलासपुर जोन में एक दिन में अकेले ही इतनी बड़ी जुर्माने की रकम वसूली की है। इससे पूर्व उन्होंने बीते साल भी नवंबर माह में यात्रियों से अकेले एक लाख 15 हजार रुपए का जुर्माना वसूल कर बिलासपुर रेल मंडल में रिकार्ड बनाया था। इस उपलब्धि पर कार्यालय में पदस्थ उनके सहयोगियों ने उन्हें पुष्पगुच्छ भेंट कर व मिठाई खिलाकर उनका स्वागत किया और बधाई दी।

बताया गया है कि, बिलासपुर जोन में अकेले सर्वाधिक जुर्माना वसूल करने का रिकार्ड, इससे पहले दुर्ग स्कॉड की टीटीआई राजश्री बासवे के नाम रहा है। उन्होंने यह रिकार्ड इसी माह 6 मई को बनाया था। जिसमें उन्होंने 225 केस में एक लाख 16 हजार 120 रुपए बतौर जुर्माना वसूल किया था।

रिकॉर्ड बनाने वाले टीटीआई एनएस मूर्ति ने बताया कि 18 मई को उन्होंने सुबह 5 बजे से ट्रेनों में चेकिंग शुरू की। चार ट्रेनों में चेकिंग करने के बाद, रात तक उन्होंने यह उपलब्धि हासिल की है। टीटीआई मूर्ति ने इस दौरान शहडोल से बिलासपुर और बिलासपुर से शहडोल तक ट्रेन में चेकिंग की।

इसके अलावा शहडोल वाणिज्यक विभाग के नाम भी एक रिकार्ड इस माह दर्ज हुआ है। जानकारी के अनुसार विभाग ने 3705 प्रकरणों में यात्रियों से 23 लाख 4 हजार 595 रुपए वसूल कर पूरे बिलासपुर रेल मंडल में रिकॉर्ड बनाया है। जिसमें बिना टिकट के 3673, अनियमित यात्रा के 16 और लगेज से संबंधित 5 प्रकरण शामिल हैं।

बताया गया है कि, इससे पूर्व इस तरह का रिकार्ड नागपुर वाणिज्य कार्यालय के नाम था। जिसमें उन्होंने एक दिन में 22 लाख रुपए बतौर जुर्माना वसूल किया था।

खबरें और भी हैं...