पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सिवनी में टीनएजर्स वैक्सीनेशन:बच्चों को टीकाकरण केंद्र लेकर पहुंच रहे शिक्षक

सिवनी4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

भारत सरकार के निर्देश अनुसार 15 से 18 वर्ष के समस्त बच्चों का कोविड से बचाव कर वैक्सीनेशन किया जाना है। इसके लिए मध्य प्रदेश में महा अभियान चलाया जा रहा है। जिसके चलते सिवनी जिले में शिक्षकों को भी जिम्मेदारी सौंपी गई है कि वे उन बच्चों को टीकाकरण केंद्र लाकर उन्हें टीका लगवाए।

आज 17 जनवरी दिन सोमवार को सुबह से शिक्षक बच्चों को टीकाकरण केंद्र ला रहें हैं और उन्हें कोरोना से बचाव के लिए टीका लगवाया जा रहा है। इस जिम्मेदारी को निभाने मे शिक्षकों में काफी उत्साह देखने को मिल रहा है। इस कार्य को करने में मुख्य कार्यपालन अधिकारी, बीआरसीसी, जन शिक्षक, प्राचार्य, सहित शिक्षकों की टीम व सभी विकास खंड के खंड चिकित्सा अधिकारी कार्यरत हैं।

इन सभी की टीम अपने-अपने अमले से बहुत ही प्रभावशाली और योजनाबद्ध तरीके से कार्य कर रही है जिसका परिणाम है कि 15 से 18 साल के लगभग सभी बच्चों का टीकाकरण हो रहा है। इनमें वे ही बच्चे बचे हैं जो किसी न किसी कारण से गांव में नहीं हैं या समस्या ग्रस्त हैं। इस कार्य को करने जनपद सीईओ ने रोजगार सहायकों से समग्र पोर्टल से 15 से 18 साल के बच्चों की सूची निकलवाकर बीआरसीसी को सौंपी है।

बीआरसीसी ने प्राचार्यों और जनशिक्षकों के माध्यम से शिक्षकों से प्रत्येक बसाहट का सर्वे करवाकर पात्र बच्चों को चिन्हित किया गया। इसके बाद बीएमओ के माध्यम से माध्यमिक विद्यालयों में टीकाकरण के लिए रणनीति बनाकर टीकाकरण करवाया जा रहा है।

बच्चे को वैक्सीनेशन सेंटर ले जाती शिक्षक
बच्चे को वैक्सीनेशन सेंटर ले जाती शिक्षक

कड़कड़ाती ठंड में शिक्षक सुबह से ही अपनी अपनी बसाहटों में पहुंच कर पात्र बच्चों को माध्यमिक विद्यालयों तक अपनी-अपनी गाड़ियों में बैठाकर वैक्सीन लगवाने पहुंच रहे हैं। महिला शिक्षक भी इस महा अभियान में पीछे नहीं रहीं। वो अपनी-अपनी स्कूटी में बच्चों को सेंटर तक पहुंचा कर वैक्सीनेशन में सहयोग कर रही हैं।

खबरें और भी हैं...