पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Satna
  • The Youth Tried To Commit Suicide, The Villagers Reached The Ambulance By Lying On The Cot, Died Due To Delay

पंचायत राज्य मंत्री के गृह क्षेत्र में सड़क का अभाव:युवक ने की खुदकुशी की कोशिश, खटिया पर लिटाकर 2KM पैदल चलकर एंबुलेंस तक पहुंचे ग्रामीण; देरी के कारण गई जान

सतना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

प्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास राज्य मंत्री रामखेलावन पटेल के गृह क्षेत्र अमरपाटन में सड़क का अभाव युवक की मौत का सबब बन गया। गंभीर हालत में युवक को अस्पताल ले जाने की जरूरत पड़ी तो सड़क न होने के कारण उसे दो किमी तक खाट पर लिटा कर ले जाना पड़ा, जिसके कारण अस्पताल पहुंचने में देरी हुई और युवक का दम निकल गया।

मंत्री रामखेलावन पटेल के गृह क्षेत्र अमरपाटन के खजूरी ताल की इटमा पंचायत के धतुई गांव के राजू दहायत की अस्पताल पहुंचने से पहले ही मौत हो गई। राजू ने शुक्रवार को फांसी लगा ली थी। परिजनों और ग्रामीणों ने उसे फांसी लगाते हुए देख लिया। उन्होंने राजू को तत्काल फंदे से उतार लिया। उस वक्त राजू की श्वास चल रही थी। लिहाजा उसे रीवा मेडिकल कॉलेज ले जाने की तैयारी की। गांव तक पहुंचने के लिए सीधे रास्ते पर सड़क न होने के कारण वहां एंबुलेंस अथवा कोई अन्य वाहन आ-जा नहीं सकता। मजबूरी में राजू को खाट पर लिटा कर करीब 2 किमी का सफर तय करना पड़ा।

अस्पताल पहुंचने से पहले गई जान

चार लोगों ने खाट को अपने कंधे पर उठाया और खेतों से दौड़ते-भागते वे राजू को मुख्य सड़क तक लाए। जहां से उसे रीवा ले जाया गया। जब तक वे वहां पहुंचे, काफी देर हो चुकी थी। डॉक्टरों ने राजू को मृत घोषित कर दिया। ग्रामीणों में सड़क के अभाव के कारण हुई इस एक और घटना को लेकर नाराजगी है। ग्रामीणों का कहना है कि अगर मुख्य सड़क तक सीधा और आसान पहुंच मार्ग बना होता तो शायद राजू की जान न जाती। ग्रामीण विकास और सड़कों के जाल के सरकारी दावों पर भी सवाल खड़े कर रहे हैं। उनकी नाराजगी पंचायत राज्य मंत्री रामखेलावन पटेल से भी इस बात को लेकर है कि वे अपने ही क्षेत्र की समस्याओं का समाधान नहीं कर पा रहे हैं।

राजू को खटिया पर लिटाकर अस्पताल ले जाते ग्रामीण।
राजू को खटिया पर लिटाकर अस्पताल ले जाते ग्रामीण।

हरकत में आया सरकारी अमला

गंभीर हालत में राजू दहायत को खटिया पर अस्पताल ले जाए जाने का वीडियो और उसकी मौत सूचना मिलने के बाद सरकारी अमला हरकत में आया। शनिवार को प्रभारी तहसीलदार डॉ.शैलेंद्र बिहारी शर्मा, जनपद पंचायत के सीईओ और थाना पुलिस धतुई पहुंचे। उन्होंने शोक संतृप्त परिजनों को सांत्वना दी और सरपंच के साथ ग्रामीणों से सड़क की समस्या के संबंध में चर्चा भी की।

राजू को ले जाने ग्रामीणों को धान के खेत और मेढ़ से होकर गुजरना पड़ा।
राजू को ले जाने ग्रामीणों को धान के खेत और मेढ़ से होकर गुजरना पड़ा।

निजी आराजी ने फंसा रखी है पेंच

प्रभारी तहसीलदार डॉ. शैलेंद्र बिहारी शर्मा ने बताया कि धतुई से आवागमन का एक रास्ता है, लेकिन वो काफी लंबा है। ग्रामीण अमरपाटन-रीवा रोड पर आने के लिए कई किमी का लंबा चक्कर लगाने के बजाए शार्ट कट का इस्तेमाल करते हैं। यहां से इसकी दूरी करीब दो KM है। शार्ट कट रास्ता निजी आराजियों के बीच से होकर जाता है। पंचायत को यहां सड़क बनाना है, लेकिन किसी ने जमीन का दान पत्र नहीं दिया है। इसके कारण काम नहीं हो पा रहा।

यहां सोनू पिता रामाधार शुक्ला निवासी धनुई, संजय पटेल पिता भालचंद्र निवासी इटमा, रामदत्त तिवारी पिता महावीर, अजय कुमार द्विवेदी पिता हरिदर्शन, प्रमोद कोल पिता साधू कोल और गुड़िया पटेल, सन्तोष पटेल की जमीन सड़क बनाने के लिए चाहिए। सरपंच को समन्वय बनाने की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

जान जोखिम में डाल नदी पार करने का VIDEO:शिवपुरी में मरीज को ट्यूब पर बैठाकर रस्सी से खींचा

खेत में महिला पर गिरा बिजली का तार, 80% झुलसी:अस्पताल लाने के लिए खाट पर लिटाकर 5KM पैदल चले ग्रामीण

खबरें और भी हैं...