पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कबाघाट का जलस्तर बढ़ा:रास्ते में भरा पानी, ट्यूब के सहारे निकल रहे लोग, पुलिया और सड़क की ऊंचाई बढ़ाने की मांग कर रहे लोग

पृथ्वीपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जनपद क्षेत्र के कुंवरपुरा और मनेथा गांव के ग्रामीण ट्यूब पर बैठकर कबाघाट की नहर को पार करते हैं। ग्रामीणों को अगर अपने खेत या अन्य गांव जाना पड़ता है तो पहले उन्हें ट्यूब का सहारा लेना पड़ता है। ग्रामीण पांच साल से इस समस्या से जूझ रहे हैं। हर बारिश में यह स्थिति बन जाती है।

दरअसल ग्राम पंचायत मनिया के कुंवरपुरा से मनेथा ग्राम पंचायत तक जाने वाली सड़क पर पिछले कई सालों से कबाघाट का जल स्तर बढ़ने के साथ ही सड़क मार्ग डूब जाता है। ग्रामीणों को ट्यूब के सहारे से आवागमन कर सफर तय करना पड़ता है।

ग्राम के बृजेन्द्र यादव, सुरेश यादव, रामस्वरूप सौर ने बताया कि 5 साल पहले कबाघाट तालाब का निर्माण कार्य हुआ था। जिसमें ग्राम कुंवरपुरा और मनेथा की ओर आने-जाने वाली मुख्य सड़क भराव क्षेत्र से नीचे था, लेकिन निर्माण एजेंसी के द्वारा सड़क मार्ग और पुलिया की ऊंचाई को नहीं बढ़ाया गया।

जिससे कबाघाट तालाब में पानी आते ही यह मार्ग पूर तरह बंद हो जाता है। चारों ओर जल भराव के हालात बन जाते हैं। घाट को पार करने के लिए किसानों को ट्यूब का सहारा लेना पड़ता है। ग्रामीण ट्यूब पर बैठकर इस मार्ग को पार करते हैं।

दूसरे रास्ते से 12 किमी का सफर करना पड़ता है
ग्रामीणों का कहना है कि अगर दूसरे रास्ते से जाते हैं तो हमें 12 किमी घूमकर जाना पड़ता है। जिसमें मनेथा, कुंवरपुरा से मनिया, चौमोखास, कसैला घूमकर जाना पड़ता है। अगर कबाघाट वाले रास्ते से जाते हैं तो मात्र डेढ़ किमी रास्ता तय करना पड़ता है। कबाघाट का पानी कम होते ही अगर इस पुलिया और सड़क की ऊंचाई बड़ा दी जाए तो यह समस्या हल हो सकती है।

दोनों ओर रस्सी बांधकर ट्यूब सहारे करते हैं पार
जैसे ही कबाघाट का पानी बढ़ता है तो यह सड़क मार्ग डूब जाता है। ग्रामीण ट्यूब को पानी डालकर दोनों ओर रस्सी से बांध देते हैं। ट्यूब में बैठकर रस्सी के सहारे दूसरे पार जाते हैं। दिनभर यहां के ग्रामीण निकलने के लिए यह मशक्कत करते रहते हैं। हर बार कबाघाट का जल स्तर बढ़ने से जान जोखिम में डालकर लोग यहां से निकलते हैं।

स्थानीय लोग आवेदन करें
पंचायत के लोग आवेदन करें। जिससे जिससे टैक्नीकल टीम को भेजकर मुआयना कराएंगे। पंचायत की कार्य योजना में शामिल करेंगे । - शैलेंद्र सिंह, सीईओ, जनपद

खबरें और भी हैं...