पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX61350.260.63 %
  • NIFTY18268.40.79 %
  • GOLD(MCX 10 GM)479750.13 %
  • SILVER(MCX 1 KG)65231-0.33 %
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • Rahatgarh To Khimlasa Malthaun Road Will Become National Highway, Jhansi Bhopal Journey Will Be Easy

राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित करने की मिली सहमति:राहतगढ़ से खिमलासा-मालथौन मार्ग बनेगा राष्ट्रीय राजमार्ग, झांसी-भोपाल का सफर हो जाएगा आसान

सागर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • नगरीय प्रशासन मंत्री की मांग पर केंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी ने दी स्वीकृति

केंद्रीय सड़क एवं परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गड़करी ने राहतगढ़, खुरई, खिमलासा- मालथौन मार्ग को राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित करने की सहमति दी है। साथ ही खुरई शहर के अंदर 5.07 किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्ग के निर्माण की स्वीकृति भी उन्होंने दी है। यह स्वीकृति उन्होंने नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह की मांग पर दी है। उन्होंने गुरुवार को दिल्ली में केंद्रीय मंत्री गड़करी से मुलाकात की। मंत्री सिंह ने अनुरोध किया कि कुल लंबाई 67.60 किलोमीटर को राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित किया जाये।

उन्होंने बताया कि वर्तमान में इस मार्ग का संचालन व संधारण मध्यप्रदेश सड़क विकास प्राधिकरण द्वारा किया जा रहा है। यह प्रदेश का अत्यंत महत्वपूर्ण मार्ग है। प्रदेश की राजधानी भोपाल को झांसी एवं कानपुर से जोड़ता है। साथ ही समीप के क्षेत्र को श्रीनगर से कन्याकुमारी तक जाने वाले सबसे लंबे राष्ट्रीय राजमार्ग 44 (काॅरिडोर) को जोड़ता है। जिस कारण प्रतिदिन काफी संख्या में वाहनों का आवागमन होता है।

इस पर केंद्रीय मंत्री गड़करी ने उक्त मार्ग को राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित करने अपनी सहमति प्रदान की है। मंत्री सिंह ने बताया कि पुराना राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 26-ए खुरई नगर से गुजरता है। इसकी कुल लंबाई 5.07 किलोमीटर है। यह अत्यंत जीर्णशीर्ण है, हमेशा दुर्घटना का भय बना रहता है तथा नागरिकों को आवागमन में कठिनाई का सामना करना पड़ता है। इसका निर्माण 8.44 करोड़ रुपए की राशि से करने का प्रस्ताव भारत सरकार द्वारा वर्ष 2021-22 की वार्षिक योजना में शामिल किया गया है।

एक घंटे की होगी बचत, आसान होगा सफर
64 किमी का सफर अभी करीब 2 घंटे में पूरा होता है। इसकी वजह है मार्ग का कम चौड़ा होना। राष्ट्रीय राजमार्ग में शामिल होने से न केवल सड़क चौड़ी होगी बल्कि इस सड़क से जो अन्य मार्ग लगे हैं उन्हें भी व्यवस्थित रूप से जोड़ा जाएगा। जिससे वाहन चालक निर्बाध रूप से यहां सफर कर सकेंगे। इससे उनके समय की बचत होगी।

अभी जहां इस मार्ग पर राहतगढ़ से खुरई खिमलासा होते हुए मालथौन तक पहुंचने में दो घंटे का समय लगता है वह घटकर करीब एक घंटे का ही रह जाएगा। इससे मालथौन, खुरई, खिमलासा के हजारों लोगों को फायदा मिलेगा। विशेषकर ऐसे लोग जिन्हें इलाज के लिए मालथौन या झांसी जाना पड़ता है उन्हें कम समय में ही अस्पताल पहुंचने की सुविधा हो जाएगी।

खबरें और भी हैं...