पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सीएंडडी प्लांट:पुराने मकानों के मलबे से बनाए जा रहे पेवर ब्लॉक, पार्क और सड़कों में किया जा रहा उपयोग

सागर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
यहां मलबे के पृथककरण को लेकर भी मशीन लगाई गई - Money Bhaskar
यहां मलबे के पृथककरण को लेकर भी मशीन लगाई गई
  • पेवर ब्लॉक का सड़कों, पार्कों में भी उपयोग किया गया
  • यहां मलबे के पृथककरण को लेकर भी मशीन लगाई गई

शहर में पुराने मकानों को तोड़ने के बाद उससे निकलने वाले मलबे से नगर निगम पेवर ब्लॉक तैयार कर रहा है। स्वच्छता सर्वेक्षण-2022 के तहत नगर निगम ने अपने सीएंडडी प्रोजेक्ट को और बेहतर बनाने की प्लानिंग की है। सीमेंट-कांक्रीट और ईंटों के मलबे की प्रोसेसिंग कर इससे पेवर ब्लॉक बनाए जा रहे हैं, जिन्हें सड़कों, पार्कों आदि के निर्माण में लगाया जाएगा।

नगर निगम ने लाल पहाड़ी पर सीएंडडी वेस्ट मटेरियल प्लांट लगाया है। इसमें शहर के व्यावसायिक और आवासीय सहित किसी भी तरह के मकानों-भवनों की निर्माण एवं मलबा सामग्री को प्रोसेसिंग कर पेवर ब्लॉक बनाने का काम किया जा रहा है। वहीं लोग भी अपने तोड़े गए भवनों का मलबा डंप करा सकते हैं। यहां मलबे के पृथककरण को लेकर भी मशीन लगाई गई है। मलबे का लैंड फिलिंग के साथ पेवर ब्लॉक बनाने में भी उपयोग किया जा रहा है। पेवर ब्लॉक का सड़कों, पार्कों में भी उपयोग किया गया है।

सड़क पर मलबा पड़ा हुआ है तो होगी कार्रवाई

नगर निगम आयुक्त चंद्रशेखर शुक्ला ने निर्देश दिए हैं कि भवन स्वामी अपने पुराने मकान को तोड़कर नए मकान का निर्माण करते हैं तो उससे निकलने वाले मलबे को हटवा लें। नहीं हो कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने अधूरे कामों को जल्द ही पूरा करने के निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही टैक्स की बकाया राशि वसूलने, बीएलसी की लंबित किस्तें जारी करने, सीएम हेल्पलाइन की शिकायतों का निराकरण करने के लिए कहा है।

खबरें और भी हैं...