पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX56747.14-1.65 %
  • NIFTY16912.25-1.65 %
  • GOLD(MCX 10 GM)476900.69 %
  • SILVER(MCX 1 KG)607550.12 %
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • On The First Day, The Attendance Of Children In Rural Schools Was 45 Percent, In Urban Area Schools, Somewhere Between 2 And 20 Students Reached

सागर में पहली से पांचवीं तक के स्कूल खुले:पहले दिन ग्रामीण स्कूलों में 45 प्रतिशत रही बच्चों की उपस्थिति, शहरी क्षेत्र के स्कूलों में कहीं 2 तो कहीं 20 स्टूडेंट पहुंचे

सागर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पथरिया जाट में स्कूल आने में बच्चों में दिखा उत्साह। - Money Bhaskar
पथरिया जाट में स्कूल आने में बच्चों में दिखा उत्साह।

सोमवार से सागर जिले में पहली से पांचवीं तक की कक्षाएं 50 प्रतिशत क्षमता के साथ शुरू की गई हैं। करीब डेढ साल बाद स्कूल खुलने पर ग्रामीण क्षेत्रों के बच्चों में ज्यादा उत्साह देखने को मिला। कक्षाएं शुरू होने के पहले दिन सोमवार को ग्रामीण क्षेत्र के स्कूलों में 45 प्रतिशत तक बच्चों की उपस्थिति रही। वहीं शहरी क्षेत्र के स्कूलों में कहीं 2 तो कहीं 20 स्टूडेंट ही पहुंचे हैं। इसमें कामगार वर्ग के ज्यादातर बच्चे स्कूल पहुंचे। स्कूल प्रबंधन बच्चों के अभिभावकों से सहमति पत्र देने के साथ ही बच्चों को स्कूल पहुंचने के लिए संपर्क कर रहा हैं।
दर्ज 237 बच्चों में से पहले दिन 107 पहुंचे
सागर से सटे पथरिया जाट शासकीय स्कूल में सोमवार को पहली से पांचवीं तक की कक्षाएं शुरू की गई। यहां पहले दिन कक्षा पहली से पांचवीं में दर्ज 237 बच्चों में 107 बच्चें स्कूल पहुंचे। बच्चों को मॉस्क लगाकर कक्षाओं में बैठाया गया। वहीं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराया गया। हालांकि ग्रामीण क्षेत्रों में सहमति पत्र के लिए शिक्षकों को परेशान होना पड़ रहा है।
स्कूल के द्वार पर गंदगी, कक्षा में पहुंचे दो बच्चे
शहर के बीचोंबीच स्थित पं. मोतीलाल नेहरू एकीकृत शाला में पहली से पांचवीं तक के 2 ही बच्चे स्कूल पहुंचे। इस स्कूल में दर्ज बच्चे 17 हैं। स्कूल के प्रवेश द्वार पर गंदगी फैली हुई है। आसपास कचरे का ढेर है। इतना ही नहीं स्कूल के मैदान में वाहन पार्क हो रहे हैं। इससे बच्चों को खेलने के सााथ ही आवागमन में परेशानी हो रही है।

स्कूल के बाहर फैली गंदगी।
स्कूल के बाहर फैली गंदगी।

स्कूल सैनिटाइज कराने के मिले निर्देश
एकीकृत शासकीय प्राथमिक शाला शुक्रवारी में पहले दिन सोमवार को पहली से पांचवीं तक के 20 बच्चे कक्षाओं में पहुंचे। पानी और खाना साथ नहीं लाने पर दोपहर के समय उन्हें घर भेज दिया गया। स्कूल में मौजूद शिक्षकों ने बताया कि विभाग से स्कूल की कक्षाओं को सैनेटाइज करने के निर्देश मिले है। लेकिन सैनिटाइजर नहीं मिला। कुछ बच्चे मॉस्क लगाकर नहीं आए तो उन्हें घर से मास्क लगाकर आने का बोला गया। वहीं निजी सैनेटाइजर से बच्चों के हाथ सैनेटाइज करा रहे हैं।

शुक्रवारी प्राथमिक शाला में दर्ज संख्या से कम पहुंचे बच्चे।
शुक्रवारी प्राथमिक शाला में दर्ज संख्या से कम पहुंचे बच्चे।
खबरें और भी हैं...