पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Sagar
  • In The Encounter With Naxalites In Balaghat, Indiscriminate Firing Lasted For Half An Hour, Two Wanted Naxalites From 3 States Were Killed

सागर SP राष्ट्रपति पुलिस पदक से सम्मानित:बालाघाट में नक्सलियों से मुठभेड़ में आधे घंटे तक चलीं थी अंधाधुंध गोलियां, दो नक्सलियों को मार गिराया था, CM ने किया सम्मानित

सागर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सागर एसपी नायक को सीएम ने किया सम्मानित। - Money Bhaskar
सागर एसपी नायक को सीएम ने किया सम्मानित।

सागर पुलिस अधीक्षक तरुण नायक काे वीरता के लिए राष्ट्रपति पुलिस पदक से सम्मानित किया गया। यह पुरस्कार 15 अगस्त काे भोपाल में आजादी की वर्षगांठ के मुख्य समारोह में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दिया। नायक को यह सम्मान बालाघाट में पोस्टिंग के दाैरान 28 लाख के इनामी 3 राज्यों के वांटेड दाे नक्सलियों काे मारने पर दिया जा रहा है।

साल 2019 में हॉक फोर्स कमांडेंट के रूप में उन्होंने अपनी की बाजी लगाकर अदम्य शौर्य व साहस का परिचय दिया था। पुलिस पदक से सम्मानित करने की घोषणा केंद्रीय गृह मंत्रालय ने जनवरी में की गई थी। सागर जिले के वे दूसरे पुलिस अधीक्षक हैं, जिन्हें वीरता के लिए पुलिस पदक से सम्मानित किया जा रहा है। इससे पहले वर्ष 2012 में सागर में पदस्थ रहे एसपी अभय सिंह को इस पदक से सम्मानित किया गया था। तरुण नायक सागर की पूर्व कलेक्टर व आईएएस प्रीति मैथिल के पति हैं।
बालाघाट के पुजारी टोला में छिपे थे नक्सली, की थी घेराबंदी
सागर पुलिस अधीक्षक तरुण नायक की सीधी के बाद वर्ष 2019 में पोस्टिंग हॉक फोर्स कमांडेंट बालाघाट में हुई थी। इस क्षेत्र में नक्सली गतिविधियां चल रही थीं। बात 9-10 जुलाई की दरम्यानी रात की है। बालाघाट के लांजी थाना के देवरबेली इलाके के पुजारी टोला में एक घर में नक्सली छिपे हाेने की सूचना मिली थी। खबर मिलते ही एसपी नायक ने वरिष्ठ अधिकारियों की सूचना दी। तत्कालीन कमांडेंट नायक और तत्कालीन बालाघाट एसपी अभिषेक तिवारी पुलिस व हॉक फोर्स के साथ गांव पहुंचे।

नक्सलियों के शवों के पास टीम के साथ टीशर्ट में खड़े एसपी नायक।
नक्सलियों के शवों के पास टीम के साथ टीशर्ट में खड़े एसपी नायक।

रात के अंधेरे में गांव की घेराबंदी की गई। वहां पहुंचने के बाद पता चला कि घर के अंदर 8-10 नक्सली हैं। उन्हें सरेंडर करने के लिए चेतावनी दी गई। लेकिन अंदर से नक्सलियों ने अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। फायरिंग होते ही जवानों ने मोर्चा संभाला और जवाबी फायरिंग की। करीब आधा घंटे तक दोनों तरफ से फायरिंग हुई। कई राउंड गोलियां चलीं। जब घर के अंदर से फायरिंग थमीं, तब सर्चिंग शुरू की गई।
एक महिला और पुरुष नक्सली के घर में मिले थे शव
फायरिंग रूकने के बाद पुलिस पार्टी सर्चिंग करने लगी। सर्चिंग के दाैरान एक महिला व एक पुरुष नक्सली की डेड बॉडी मिली। दोनों की गाेली लगने से माैत हुई थी। उनके साथी अंधेरे का फायदा उठाकर जंगल में भाग निकले थे। उनकी तलाश में रातभर जंगलों में सर्चिंग चली। मुठभेड़ में मारे गए नक्सलियों की पहचान हुई ताे वे तीन राज्यों के वांटेड निकले। मारे गए नक्सलियों में अशोक उर्फ मंगेश (21) एसीएम टांडा एरिया कमेटी और महिला नक्सली की शिनाख्त नंदे (19) टांडा एरिया कमेटी सदस्य शामिल थीं। इन नक्सलियों पर हत्या, हत्या का प्रयास समेत कई मामले दर्ज थे। दाेनों नक्सलियों पर महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ व मप्र में 14-14 लाख का इनाम घोषित था। पुरुष नक्सली से एसएलआर, तीन मैग्जीन 49 राउंड, दाे बायरलेस सेट, एक मोबाइल चार्जर, टॉर्च, पिट्ठू बैग, नगद 10 हजार 720 व दाे डायरी मिली तथा महिला नक्सली से 315 बोर रायफल, छाता, चाकू, सुई-धागा व पेन मिला। हॉक फोर्स व जिला पुलिस का यह ज्वाइंट ऑपरेशन था। चार पार्टियां इस मिशन में शामिल थीं।
सागर एसपी को पुलिस पदक सम्मान:घर में छिपे थे 8-10 नक्सली, सरेंडर करने काे कहा ताे फायरिंग की, 28 लाख के इनामी दाे नक्सली काे मार गिराया

खबरें और भी हैं...