पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मोटर निकालने कुएं में उतरे पिता-पुत्र सहित 3 की मौत:सागर के मढ़ी पिपरिया में हादसा; 3 घंटे चले रेस्क्यू के बाद निकाले शव

सागर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सागर के गौरझामर थाना क्षेत्र के ग्राम मढ़ी पिपरिया में गुरुवार को दर्दनाक हादसा हुआ है। हादसे में कुएं में पानी की मोटर निकालने उतरे पिता-पुत्र समेत तीन लोग दम घुटने से पानी में डूब गए। सूचना मिलते ही मौके पर ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई। पुलिस भी पहुंची और ग्रामीणों की मदद से रेस्क्यू शुरू किया, लेकिन सफल नहीं हो पाए। इसके बाद सागर से एसडीईआरएफ की टीम को बुलाया गया। करीब 3 घंटे तक चले रेस्क्यू के बाद तीनों शवों काे निकाल लिया गया है। घटनाक्रम के बाद से गांव में रक्षाबंधन पर्व की खुशियों के बीच मातम छा गया।

पुलिस के अनुसार खिलान सिंह लोधी ( 65) के खेत में बने कुएं में पानी की मोटर लगी हुई थी। कुआं करीब 60 फीट गहरा है। लगातार बारिश होने से कुएं का जलस्तर बढ़ गया, जिससे मोटर पानी में डूब सकती थी। ऐसे में कुएं से पानी की मोटर निकालने के लिए गुरुवार को वे बेटे नेतराज उर्फ नित्तू लोधी (25) और सिमरिया निवासी सुनील पटेल (25) के साथ पहुंचे थे। खिलान सिंह मोटर निकालने के लिए रस्सी के सहारे कुएं में उतर गए। नीचे बने ठिए पर खड़े होकर मोटर निकालने लगे।

इस कुएं में हुआ हादसा।
इस कुएं में हुआ हादसा।

दम घुटने से हुए बदहवास

अचानक वे कंपकंपाने लगे और दम घुटने लगा। मुंडेर पर खड़े बेटे और सुनील ने कई बार आवाज दी। लेकिन उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया। स्थितियां देखकर बेटा नेतराज कुएं में उतर गया। नीचे पहुंचने के बाद वह भी दम घुटने से बदहवास हो गया। जिसे देख सुनील भी रस्सी की मदद से पिता-पुत्र को बचाने के लिए कुएं में उतर, लेकिन तब तक दोनों पानी में गिर गए थे। वहीं कुछ देर बाद सुनील भी पानी में गिर गया। घटनाक्रम देख गांव के लोग मौके पर पहुंचे और ग्रामीणों ने कुएं में उतरने की कोशिश की। लेकिन गैस रिसाव के संदेह में उन्हें रोक दिया गया। पुलिस को सूचना दी गई।

घटनाक्रम के दौरान मौके पर लगी ग्रामीणों की भीड़। पुलिस और SDERF पहुंची।
घटनाक्रम के दौरान मौके पर लगी ग्रामीणों की भीड़। पुलिस और SDERF पहुंची।

कुएं में गैस का रिसाव होने की आशंका
घटनाक्रम की सूचना मिलते ही गौरझामर थाना पुलिस मौके पर पहुंची और ग्रामीणों की मदद से रेस्क्यू शुरू किया। कुएं में नीचे उतरने पर घुटन महसूस हो रही थी, जिसे देख रेस्क्यू रोका गया और सागर से एसडीईआरएफ की टीम को बुलाया गया। SDERF की टीम का सदस्य कुएं में उतरा तो उसे भी घुटन महसूस हुई, जिसके बाद मुंडेर पर ही खड़े होकर रेस्क्यू किया गया। टीम ने कुएं से खिलान सिंह लोधी का शव निकाला। इसके बाद नेतराज और सुनील का शव भी शाम 6 बजे तक निकाल लिया गया।

गैस रिसाव होने का संदेह
गौरझामर थाना प्रभारी आनंद सिंह ने बताया कि पिता-पुत्र और एक अन्य कुएं पर पानी की मोटर निकालने के लिए पहुंचे। मोटर निकालते समय एक के बाद एक खिलान, नेतराज और सुनील कुएं में उतरे। दम घुटने से वह पानी में डूब गए। SDERF टीम की मदद से रेस्क्यू कर तीनों शवों को कुएं से बाहर निकाल लिया गया है। कुएं में ऑक्सीजन लेवल कम होने और गैस रिसाव होने का संदेह है। हालांकि जांच के बाद ही घटना का कारण स्पष्ट हो सकेगा।

खबरें और भी हैं...