पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Damoh
  • Truck Drivers Jammed The Highway, RTO Said Instructions For Investigation Have Been Received From The Government, Allegations Of Illegal Recovery Are False

आरटीओ पर अवैध वसूली का आरोप:हाइवे पर ट्रक ड्राइवरों ने लगाया जाम, आरटीओ बोले- जांच के निर्देश शासन से मिले हैं, अवैध वसूली के आरोप झूठे

दमोह7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
हाइवे पर जाम लगाते ट्रक ड्राइवर। - Money Bhaskar
हाइवे पर जाम लगाते ट्रक ड्राइवर।

दमोह-जबलपुर स्टेट हाइवे पर मारुताल बाईपास चौराहे पर बुधवार रात करीब 11 बजे ट्रक ड्राइवरों ने जाम लगा दिया, जिससे पूरा आवागमन बंद हो गया। घंटों तक जाम लगा रहा और ट्रक ड्राइवर आरटीओ पर अवैध वसूली के आरोप लगाते रहे। रात करीब 12 बजे तक पुलिस ट्रक ड्राइवरों को समझाने में जुटी रही, तब जाकर जाम समाप्त हो पाया।

कटनी से राजस्थान जा रहे ट्रक ड्राइवर उगरा राम का कहना था कि आरटीओ प्रत्येक वाहन से दो हजार और 3 हजार रुपए अवैध वसूली करते हैं। रुपए नहीं देने पर 10 हजार रुपए का चालान काटते हैं, जबकि वह अंडरलोड सामान लेकर ही ट्रकों से परिवहन कर रहे हैं।

उसका कहना है कि शासन के नियमों का पालन करने के बाद भी उन्हें इस तरह परेशान किया जा रहा है। ट्रक ड्राइवर का कहना है कि आरटीओ अपने निजी कर्मचारियों को यहां पर खड़ा करते हैं और ट्रकों को रोकते हैं। यदि कोई रुपए नहीं देता है तो उसके साथ आरटीओ के निजी कर्मचारी मारपीट भी कर देते हैं।इस रात भी एक ट्रक ड्राइवर के साथ आरटीओ के लिए कर्मचारियों ने मारपीट कर दी, जिसके बाद यह विवाद की स्थिति उत्पन्न हुई है।

वहीं उड़ीसा से टीकमगढ़ जा रहे ट्रक ड्राइवर जितेंद्र सिंह ने बताया कि आरटीओ अवैध वसूली कर रहे हैं जिससे उन्हें काफी परेशानी हो रही है। रात करीब 11 बजे से यहां पर ट्रक ड्राइवर एकत्रित हो गए और उन्होंने पूरे हाइवे पर वाहनों को तितर-बितर कर खड़ा कर दिया, जिससे पूरी तरह आवागमन बंद हो गया।

ट्रक ड्राइवरों ने आरटीओ के खिलाफ नारेबाजी कर विरोध जताया और कहा कि आरटीओ की अवैध वसूली से वह काफी परेशान हो चुके हैं, हालांकि जिस समय विरोध-प्रदर्शन हो रहा था। उस समय आरटीओ वहां से जा चुके थे। जाम की सूचना मिलने के बाद जबलपुर नाका चौकी पुलिस मौके पर पहुंची और वाहन ड्राइवरों को समझाने के बाद जाम समाप्त कराया।

इस मामले में जब आरटीओ क्षितिज सोनी से बात की तो उनका कहना है कि शासन के निर्देश है कि सभी ऑटो और अन्य वाहनों की जांच की जाए। वह निर्देशों के तहत यहां पर वाहनों की जांच कर रहे थे। उन्होंने करीब 20 हजार रुपए का राजस्व भी वसूल किया है।

उनका कहना है कि ट्रक ड्राइवरों द्वारा उन पर लगाए जा रहे अवैध वसूली के आरोप झूठे हैं। उनका यह भी कहना है कि जिस समय पर वह कार्रवाई कर रहे थे। वहां पर किसी ने भी इस तरह की बात नहीं की। उनके जाने के बाद कुछ ट्रक ड्राइवरों ने इस तरह का हंगामा किया होगा, जिसकी उन्हें जानकारी नहीं हैं।

खबरें और भी हैं...