पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57684.791.09 %
  • NIFTY17166.91.08 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47590-0.92 %
  • SILVER(MCX 1 KG)61821-0.24 %

खाद से परेशान किसान:किसानों ने खाद विक्रेताओं पर लगाए कालाबाजारी के आरोप, बोले-14-1500 रूपए में बेचते हैं खाद

छतरपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डीएपी खाद से हैं परेशान ग्रामीण - Money Bhaskar
डीएपी खाद से हैं परेशान ग्रामीण

जिले के हरपालपुर में रबी सीजन की बोवाई के लिए पिछले एक सप्ताह से किसान डीएपी खाद की कमी से जूझ रहे है। किसानों को डीएपी खाद न मिल पाने के कारण खेतों में बोवाई शुरू नहीं हो सकी है। जिले में डीएपी खाद की रैक आने के बाद भी हरपालपुर के किसानों को खाद मिल नहीं पाई है। किसान खाद के लिए सहकारी समितियों और डबल लॉक गोदामों के चक्कर लगाकर परेशान है। किसान सही समय पर बोवानी न हो पाने के कारण परेशान हैं। प्रशासन की सख्ती के बाद भी निजी खाद विक्रेताओं की मनमानी और कालाबाजारी रुकने का नाम नहीं ले रही है।

किसानों का आरोप है कि निजी खाद विक्रेताओं के पास डीएपी का स्टॉक है। और वे चोरी छिपे रात के अंधेरे में 14-1500 का बैग बेच रहे हैं। पिछले दो दिनों से निजी खाद विक्रेता उन किसानों को खाद दे रहे हैं, जो 1400 से 1500 का भुगतान कर रहा है। जिला कलेक्टर द्वारा राजस्व, पुलिस, कृषि विभाग का सयुंक्त दल गठित किया है। जो इन निजी खाद दुकानों की निगरानी करें। रैक पॉइंट के परिवहन ठेकेदार अमरीश चौरसिया ने बताया कि निजी खाद दुकानदार यूरिया लेने से मना कर रहे हैं। दो दिन में ट्रैकों से एनएफएल यूरिया जिले भर में भेजा जाएगा।