पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX60802.65-0.75 %
  • NIFTY18132.4-0.73 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47363-0.05 %
  • SILVER(MCX 1 KG)642760.82 %

20 सितंबर से प्राथमिक पाठशाला का संचालन:रीवा जिले में 18 माह बाद खुले प्राथमिक स्कूल, पहले दिन बच्चों के​ चेहरे में दिखा साफ उत्साह, नहीं दिखा कोविड प्रोटोकॉल

रीवाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सरकारी स्कूलों में ज्यादातर बच्चे बिना मॉस्क लगाकर पहुंचे

प्रदेश सरकार के निर्देश पर 20 सितंबर से प्राथमिक पाठशाला का संचालन प्रारंभ हो गया है। ऐस में पहले दिन स्कूल पहुंचे बच्चों के चेहरे में साफ खुशी दिखाई दी। हालांकि स्कूल परिसर के अंदर व कक्षाओं में कोविड प्रोटोकॉल का पालन नहीं दिखा है। वहीं ज्यादातर सरकारी स्कूलों में बच्चे बिना मॉस्क लगाकर ही पहुंचे थे।

बता दें कि 18 माह बाद कक्षा-एक से लेकर पांचवी तक के विद्यार्थियों की पढ़ाई सोमवार से कक्षाओं में शुरू हो गई है। हालांकि अभी 50 फीसदी बच्चों को ही स्कूल बुलाने के निर्देश है। साथ ही अभिभावकों की सहमति अनिवार्य हैं। लेकिन कोविड प्रोटोकाल को लेकर अभिभावकों की लापरवाही भी देखने को मिली।

चोरहटा स्कूल का आंखों देखा हाल
दैनिक भास्कर रिपोर्टर सोमवार की सुबह 10 बजे चोरहटा स्कूल परिसर में पहुंचे तो माली पौधों की छटाई करते दिखा। तभी कुछ देर बाद स्कूल के बच्चे भी पहुंचने लगे। 10.30 बजे स्कूल की चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी पहुंची। पूछताछ में बताया कि ​टीचर 11 बजे के बाद आते है। वहीं स्कूल में कुछ अध्यापकों की संख्या 22 है। साथ ही स्कूल में औसतन दो सैकड़ा विद्यार्थी की संख्या है।

पहली बार स्कूल पहुंचे कक्षा-एक के विद्यार्थी
कक्षा-एक के विद्यार्थियों के लिए यह दिन सबसे खास रहा। वे पहली बार स्कूल पढ़ने पहुंचे तो उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। इनमें से कुछ बच्चों को जब अभिभावकों ने स्कूल छोड़ा तो काफी देर तक आंखों से आंसू भी बहे। लेकिन शिक्षकों ने उन्हें किसी तरह मनाया।

खबरें और भी हैं...