पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX58649.681.76 %
  • NIFTY17469.751.71 %
  • GOLD(MCX 10 GM)479790.62 %
  • SILVER(MCX 1 KG)612240.48 %

रिश्ते का भाई ही निकला बलात्कारी का सहयोगी:रीवा से लापता किशोरी 7 माह बाद महाराष्ट्र से बरामद, पुलिस ने लोकेशन ट्रेस कर पकड़ा, बहन को आरोपी के हवाले करने वाला भाई भी पहुंचा जेल

रीवा4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बिछिया थाना क्षेत्र का मामला, पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर भेजा जेल

रीवा शहर के बिछिया थाना क्षेत्र से लापता हुई किशोरी सात माह बाद महाराष्ट्र से बरामद हो गई है। पुलिस पूछताछ में जो खुलासा हुआ है उसमे रिश्ते के चचेरे भाई पर आरोपी की मदद कराने का आरोप है। किशोरी के बयान लेने के बाद बिछिया पुलिस ने दुष्कर्म के आरोपी सहित दैहिक शोषण कराने में मददगार बने भाई पर अपराध दर्ज कर जेल भेज दिया है।

मिली जानकारी के मुताबिक 16 वर्षीय किशोरी 5 जनवरी 2021 को अचानक से लापता हो गई। फिर परिजनों की शिकायत पर पुलिस ने गुमशुदगी का प्रकरण दर्ज कर खोजबीन कर रही थी। तभी संदेही युवक व किशोरी की लोकेशन महाराष्ट्र में मिलते ही थाना प्रभारी ने एक टीम बनाकर महाराष्ट्र भेजी। जहां किशोरी को लोकल पुलिस की मदद से बरामद कर लिया गया।

पुलिस का दावा है कि 7 माह तक किशोरी से संबंध बनाने वाले आरोपी संदीप पटेल पिता हीरालाल निवासी पांती शिवपुरवा थाना गोविंदगढ़ को गिरफ्तार कर रीवा लाया गया। जहां से जिला न्यायालय में पेश करते हुए जेल भेज दिया गया था। साथ ही किशोरी को आरोपी के हवाले करने वाले राजमणि यादव को भी अपराध में सहयोगी बनाते हुए जेल भेजा है।

हालांकि रिश्ते के चचेरे भाई का मीडिया के सामने नाम न आने पर खुद पीड़ित परिवार के लोगों ने बीते दिन जानकारी दी। दावा है कि कहीं लालच में आकर बेटी को बेंचने वाला नहीं है। वहीं पुलिस की जांच में राजमणि द्वारा रुपए लेकर किशोरी को बेंचने जैसी बात सामने नहीं आई है। लेकिन पुलिस ने यह माना है कि भाई ने किशोरी को आरोपी तक पहुंचाया है।

​रिश्ते का भाई लेकर गया था मुंबई
महिला अधिकारियों को दिए बयान में किशोरी ने बताया कि महाजन टोला में रहने वाले उसके चचेरे भाई राममणि यादव पिता वृंदावन ने उसे मुंबई के तोपखाना तक ले जाकर युवक के हवाले कर दिया था। जहां आरोपी ने प्रेम प्रसंग का बहाना कर लगातार 7 माह तक दुष्कर्म किया। हालांकि इस बीच किशोरी ने भागने की कोशिश की, लेकिन आरोपी बंधक बनाए रखा। जिससे वह सात माह तक फंसी रही।

भाई को भी शह आरोपी बनाकर पुलिस ने भेजा जेल
पीड़िता के घर वालों ने बताया कि रिश्ते के चचेरे भाई का नाम आने के बाद पुलिस ने आरोपी बनाकर जेल भेज दिया था। पुलिस की मानें तो विवचना के दौरान राममणि यादव को थाने बुलाकर पूछताछ की थी। लेकिन उसने कुछ नहीं बताया था। लेकिन किशोरी के बयान के बाद रिश्ते के चचेरे भाई का राज खुल गया। ऐसे में पुलिस ने चचेरे भाई को भी गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश करते हुए जेल ​भेज दिया है।

खबरें और भी हैं...