पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX59037.18-0.72 %
  • NIFTY17617.15-0.79 %
  • GOLD(MCX 10 GM)48458-0.16 %
  • SILVER(MCX 1 KG)646560.47 %

रीवा-सीधी बॉर्डर में तस्करों की करतूत:यूपी पासिंग टाटा सूमो से 20 पेटी शराब ला रहे थे रीवा, पुलिस को देखते ही गाड़ी में लगा दी आग

रीवा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

रीवा-सीधी बॉर्डर में अज्ञात तस्करों ने पुलिस को देख 20 पेटी शराब सहित वाहन को आग के हवाले कर दिया है। सूत्रों की मानें तो गोविंदगढ़ थाना अंतर्गत गड्डी पहाड़ के पास सीधी की ओर से चार पहिया वाहन में शराब रखकर कुछ तस्कर रीवा की ओर आ रहे थे।

जैसे ही मुखबिर की सूचना के बाद पुलिस ने पीछा किया तो अज्ञात तस्करों ने वाहन की रफ्तार बढ़ाते हुए नहर के रास्ते जंगल में गाड़ी को डाल दी। जब आगे रास्ता बंद मिला तो तस्कर वाहन से उतर तक डीजल की टंकी खोलते हुए टैंक में आग लगाकर जंगल के रास्ते फरार हो गए।

जानकारी के अनुसार शनिवार की सुबह 6.30 बजे शिवपुरवा चौकी पुलिस को एक मुखबिर ने सूचना दी कि सीधी जिले के रामपुर नैकिन से टाटा सूमो वाहन में 20 पेटी शराब लोड़ होकर रीवा आ रही है। ऐसे में चौकी प्रभारी ने पुलिस के आला अधिकारियों को जानकारी देकर पीछा किया। गड्डी पहाड़ में करीब दो घंटे तक तस्कर और पुलिस का खेल चलता रहा।

वाहन के साथ जले साक्ष्य
सूत्रों का दावा है कि शिवपुरवा चौकी पुलिस ने तत्परता तो दिखाई थी। लेकिन तस्करों ने वाहन के साथ शराब और सभी साक्ष्य जला दिए। जिससे पुलिस के किए कराए प्लान पर पानी फिर गया। पुलिस टीम के सामने जंगल में धू धूकरकर गाड़ी जल गई। लेकिन पहाड़ी क्षेत्र होने के कारण पुलिस कुछ नहीं कर पाई।

दूसरे दिन एफएसएल टीम गई जांच करने
दावा है कि लोकायुक्त की ट्रैपिंग में फंसे गोविंदगढ़ थाना प्रभारी एसएस बघेल को निलंबित कर दिया गया था। ऐसे में कुछ दिनों से गोविंदगढ़ थाना प्रभारी विहीन था। कयास लगाए जा रहे है कि शनिवार को गड्डी पहाड़ में तस्करों द्वारा वाहन में आग लगाने की घटना पर कोई मार्गदर्शन नहीं दे पाया। नतीजन दूसरे दिन रविवार की दोपहर एफएसएल टीम मौके पर पहुंची। जिसने घटना के अहम साक्ष्य जुटाए है।

पैकारी के लिए आ रही थी शराब
दरअसल रीवा जिले के शातिर तस्कर इ​न दिनों यूपी और रीवा के बॉर्डर वाले क्षेत्र में सीधी से सस्ती शराब मंगाकर परोस रहे हैं। शराब कारोबार में लिप्त लोग रात की जगह इन दिनों अल सुबह शराब तस्करी करते है। कुछ माह पहले भी इसी रास्ते से शराब आई थी।