पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX61765.590.75 %
  • NIFTY18477.050.76 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47189-1.48 %
  • SILVER(MCX 1 KG)631020.23 %
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Ratlam
  • Waist Water In Jawahar Nagar, Movement Stopped On New Road, Ground Floor Water water On Power House Road

तस्वीरों में हमारे शहर का हाल:जवाहर नगर में कमर तक पानी, न्यू रोड पर आवाजाही रोकी, पावर हाउस रोड पर ग्राउंड फ्लोर पानी-पानी

रतलामएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

तेज बारिश से लगभग सभी निचली बस्तियों में पानी घुस गया। जवाहर नगर में पहली बार कमर-कमर तक पानी रहा तो वहीं शास्त्री नगर, न्यू रोड पर आवाजाही रोकना पड़ी। शेरानीपुरा, काजीपुरा में पुलिस ने मोर्चा संभाला। वहीं शास्त्री नगर का नाला रोड पर बह निकला। तस्वीरों में देखिए शहर का हाल।

जवाहर नगर : सड़क पर कमर-कमर तक आया पानी

इन चार बातों से जानें...6 इंच बारिश में आखिर क्यों बन गए ऐसे हालात

  • सफाई - नालों की सफाई ठीक से नहीं की गई। पूरे नाले साफ करने के बजाए सिर्फ प्रमुख जगह का ही कचरा हटाया गया। 35 लाख की स्कीड स्टीयर मशीन का उपयोग एक बार भी नालाें की सफाई में नहीं हुआ। इसके लिए मशीन में चार अटैचमेंट भी हैं जो धूल खा रहे। 48 लाख की पॉकलेन मशीन भी खराब पड़ी है।
  • सीवरेज सिस्टम - जून 2017 में काम शुरू हुआ था, सवा चार साल बाद भी अधूरा है। लगभग 23850 हजार हाउस कनेक्शन और 4.8 किमी सीवेज लाइन और पंपिंग स्टेशनों में बिजली कनेक्शन होना बाकी। बढ़ाई गई समय सीमा भी जून में खत्म हो चुकी, निगम अफसर कार्रवाई करने के बजाय टाल रहे हैं।
  • बरसाती नाले - 2018 में तीन नालों का काम शुरू हुआ था। गोमदड़े पुलिया से उंकाला गणेश 2600 मीटर लंबे नाले में से लगभग 1700, सुभाष नगर से अमृत सागर तालाब तक का 1400 मीटर लंबा नाला 650 मीटर ही पक्का बन पाया है। आबकारी चौराहा से मराठों का वास वाला नाला प्रोजेक्ट से बाहर कर दिया गया।
  • अतिक्रमण - नालों के किनारे 350 से ज्यादा जगह अतिक्रमण है। चार साल में हटाने को लेकर कोई बड़ी कार्रवाई नहीं हुई। 2017 में नालों के किनारे कच्चा-पक्का कब्जा करने वाले 253 लोगों को नोटिस देकर तत्कालीन आयुक्त एसके सिंह, सिटी इंजीनियर नागेश वर्मा ने सख्ती से कार्रवाई करते हुए अतिक्रमण हटाया था।

नुकसानी के आकलन के लिए पांच दल बनाए गए हैं

बारिश बहुत तेजी हुई इसलिए स्टेशन के ट्रैक फेल हो गए। इस कारण लगभग सुबह 8 से 12 बजे तक ट्रेनों का मूवमेंट रुका रहा। उसके बाद से स्थिति सामान्य हो गई है। मंडल में और कहीं भी ऐसी स्थिति नहीं बनी। -विनीत गुप्ता, डीआरएम

नुकसानी के आकलन के लिए 5 दल बनाए हैं। बारिश तेजी से हुई इसलिए ऐसी स्थिति बनी। नगर निगम से चल रहे कार्यों को जल्द पूरा करने मॉनिटरिंग कर रहे हैं। काम की रफ्तार और बढ़वाएंगे। -कुमार पुरुषोत्तम, कलेक्टर

रविवार को जनहानि नहीं हुई है। दुर्घटना संभावित इलाकों में पाॅइंट लगाए। 8 राहत शिविर बनाए हैं। जरूरत पड़ी तो प्रभावितों को वहां शिफ्ट करेंगे। समाजसेवी संस्थाएं भी भोजन पैकेट दे रही हैं।-गौरव तिवारी, एसपी

खबरें और भी हैं...