पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX61765.590.75 %
  • NIFTY18477.050.76 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47189-1.48 %
  • SILVER(MCX 1 KG)631020.23 %
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Ratlam
  • Gold cash In GRP Police Station, Income Tax Investigation Continues, Case Of Two And A Half Kilos Of Gold Found At Railway Station

बिलों की जांच:सोना-नकदी जीआरपी थाने में, इनकम टैक्स की जांच जारी, मामला रेलवे स्टेशन पर मिले पौने दो किलो सोने का

रतलामएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Money Bhaskar
फाइल फोटो

जीआरपी द्वारा पकड़े आभूषण व्यापारियों ने इनकम टैक्स और जीएसटी विभाग के अधिकारियों की पूछताछ में दावा किया है कि नकदी और आभूषण वैध रूप से ले जा रहे थे। व्यापारियों के अनुसार रतलाम से डिजाइन चेंज करने के लिए आभूषण मिले थे। व्यापारियों ने रतलाम से बिल ले जाकर विभाग को प्रस्तुत किए हैं। विभाग द्वारा बिलों की जांच की जा रही है। उधर, जीआरपी टीआई लालसिंह सिसौदिया ने बताया कि जब्त सोना और नकदी उनके थाने में जमा है। जीआरपी थाने में अब तक प्रकरण दर्ज नहीं हुआ है।

जीआरपी ने जयपुर-मुंबई एक्सप्रेस ट्रेन से जाने के लिए प्लेटफॉर्म 4 पर पहुंचे मुंबई के व्यापारी दिलखुश जैन (53) और मेहुल जैन (29) दोनों निवासी लालबाग मुंबई को पकड़ा था। उनके पास भारी मात्रा में सोने के मंगलसूत्र और हार तथा 4,63,630 रुपए नकदी मिले थे। व्यापारियों ने पकड़े माल का वजन 1 किलो 425 ग्राम 630 मिली ग्राम बताते हुए बिल प्रस्तुत किए।

मुंबई और राजकोट में बन रहे हैं आभूषण

आभूषणों में सोने की 92 प्रतिशत शुद्धता को लेकर रतलाम सराफा बाजार की साख है। परंतु मुंबई के व्यापारियों द्वारा रतलाम आकर आभूषण बेचने की जानकारी मिली तो भास्कर ने स्थानीय आभूषण व्यापारियों से पूछताछ की। व्यापारियों ने बताया कि डिजिटल के जमाने में नेट पर आभूषण की डिजाइन पसंद करते हैं और वहीं डिजाइन बनवाते हैं।

नेट पर उपलब्ध आभूषणों की डिजाइन काफी बारीक रहती है जो कारीगरों द्वारा बना पाना संभव नहीं है। मुंबई और राजकोट में मशीनों द्वारा आभूषण बनाए जाते हैं। उक्त दोनों व्यापारी मुंबई से इन्हीं डिजाइनों वाले आभूषण लेकर आए थे। ग्राहकों की डिमांड पर स्थानीय व्यापारी इनसे आभूषण बनवाते हैं और अपना हॉलमार्क लगाकर बेचते हैं। हालांकि मशीन से एक-दो आभूषण बनवाने पर लागत करीब एक प्रतिशत अधिक होती है। यदि मशीन से एक ही डिजाइन के आभूषण अधिक संख्या में बनवाएं तो लागत कम हो जाएगी।

खबरें और भी हैं...