पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX59015.89-0.21 %
  • NIFTY17585.15-0.25 %
  • GOLD(MCX 10 GM)46178-0.54 %
  • SILVER(MCX 1 KG)61067-1.56 %
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Ratlam
  • Five Days Ago, The Woman Who Was Told To Be A Twin Had A Child, This Time The Pregnant Who Was Told To Be A Child Got Twins.

लकी ड्रॉ बन गई सरकारी सोनोग्राफी:पांच दिन पहले जिस महिला को जुड़वा बताए उसे एक बच्चा हुआ, इस बार जिस गर्भवती को एक बच्चा बताया था उसे हो गए जुड़वा

रतलाम2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अस्पताल में भर्ती महिला। - Money Bhaskar
अस्पताल में भर्ती महिला।

जिला अस्पताल की सोनोग्राफी रिपोर्ट लकी ड्रॉ बनकर रह गई है। ऐसी स्थिति तब है जब इस मशीन से रोज 80-90 गर्भवतियों की सोनोग्राफी हो रही है। मामला गंभीर है क्योंकि जिन्हें जुड़वा बच्चे होने वाले होते हैं उन्हें स्पेशल केयर की जरूरत होती है और सोनोग्राफी से ही पता चलता है कि जुड़वा है या नहीं।

15 दिन में दाे मामले सामने आ चुके हैं, जिनमें सोनोग्राफी में कुछ और बताया और डिलीवरी में कुछ और निकला। ताजा मामला बुधवार का है। रावटी के मोरकुटा की आरती की दोपहर 11 बजे डिलीवरी हुई, महिला ने दो लड़कों को जन्म दिया।

परिजन इस बात से खुश हो गए ऐसा इसलिए क्योंकि उन्हें पहले नहीं पता था कि दो बच्चों का जन्म होगा। यह उनके लिए चौंकाने वाली दोहरी खुशी जैसा मामला था। आश्चर्य इस बात का है कि महिला की 30 जून को अस्पताल में सोनोग्राफी हुई थी। जिसमें जुड़वा बच्चे होने के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई।

महिला और उनकी मां बोलीं - नहीं पता था जुड़वा बच्चे होने हैं

बच्चों को जन्म देने वाली आरती ने बताया पहले कोई परेशानी नहीं हुई थी। 30 को अस्पताल आए थे, सोनोग्राफी करवाई। इसमें भी नहीं बताया कि दो बच्चे हैं। डिलीवरी के बाद पता चला कि जुड़वा लड़के हुए हैं। इधर, आरती की मां अमरी ने भी पहले दो बच्चे होने की जानकारी से इनकार किया है।

दोनों बच्चे ऑक्सीजन पर, वजन कम, अब दूध चालू किया

महिला करी 7वें महीने में डिलीवरी हो गई। बच्चों को एसएनसीयू में रखा है। एसएनसीयू प्रभारी डॉ. नावेद कुरैशी ने बताया एक बच्चे का वजन 1.500 किलो व दूसरे का वजन 1.300 किलो है। अभी दोनों ही को ऑक्सीजन पर रखा है। गुरुवार से नली से दूध चालू किया है। 5 दिन ऑब्जर्वेशन में रखेंगे।

जुड़वा बच्चों को एक्स्ट्रा केयर की जरूरत

सामान्य बच्चे के मुकाबले यदि कोई महिला जुड़वा बच्चों को जन्म देने वाली होती है तो उसे एक्स्ट्रा केयर की जरूरत है। जानकारी पहले मां को दी जाती है। कई मामलों में ऑपरेशन प्लान रहता है।

अस्पताल में 80 से 100 सोनोग्राफी रोज हो रही

जिला अस्पताल में 80 से 100 सोनोग्राफी रोज हो जाती है। अस्पताल में दो मशीन बंद है। सोनोग्राफी के लिए लंबी वेटिंग जारी है। एक डॉक्टर को एक दिन में 30 से 40 सोनोग्राफी करना है।

15 दिन पहले जुड़वा बच्चे बताए थे, हुआ एक ही- 17 जुलाई को दंतोड़िया की एक महिला की जिला अस्पताल में सोनोग्राफी हुई थी, उसे जुड़वा बच्चे बताए गए थे। जब 15 जुलाई को डिलीवरी हुई तो एक ही बच्चा हुआ। बच्चा चोरी की शंका में मामला थाने तक पहुंच गया था।

जानकारी ले रहे हैं

मामले में कई सवाल हैं। पहले भी ऐसा हुआ है। जानकारी ले रहे हैं।
डॉ. आनंद चंदेलकर, सिविल सर्जन, जिला अस्पताल

मशीन में तकनीकी खराबी

सोनोग्राफी मशीन में तकनीकी खराबी है। इसे लेकर आवेदन दिया है। जो पार्ट्स खराब है, उसे बदल दिया जाएगा। जल्द सुधार हो जाएगा।

डॉ. रवि दिवेकर, वरिष्ठ चिकित्सक, जिला अस्पताल

खबरें और भी हैं...