पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX59015.89-0.21 %
  • NIFTY17585.15-0.25 %
  • GOLD(MCX 10 GM)46178-0.54 %
  • SILVER(MCX 1 KG)61067-1.56 %
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Ratlam
  • Mandsour
  • 10 10 Thousand Reward Announced On 3 Accused Absconding In Poisonous Liquor Case, SIT Team Met The Relatives Of The Dead And Affected Patients

मंदसौर जहरीली शराबकांड के आरोपियों पर इनाम:3 फरार आरोपियों पर 10-10 हजार रुपए के इनाम घोषित, SIT की टीम ने मृतकों के परिजन से की मुलाकात

मंदसौर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मंदसौर में जहरीली शराबकांड के मामले में फरार तीन आरोपियों पर पुलिस ने 10-10 हजार रुपए का इनाम घोषित किया है। मंदसौर के खकराई और पिपलिया मंडी में जहरीली शराब पीने से 7 लोगों की मौत और कई लोगों के बीमार होने के मामले में पुलिस ने अब तक एक आरोपी जयपाल सिंह उर्फ पिंटू की गिरफ्तारी की है ।वही अवैध शराब बेचने वाले तीन आरोपी महिपाल सिंह, गजेंद्र सिंह और जितेंद्र सिंह अभी फरार है। जिन की सूचना देने पर पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ चौधरी ने 10 -10 हजार रुपए का इनाम घोषित किया है।

गिरफ्तार आरोपी जयपाल ने पुलिस को बताया फरार आरोपी जितेंद्र सिंह करता था अवैध शराब की सप्लाई

जहरीली शराब कांड में पकड़े गए जयपाल सिंह उर्फ पिंटू ने पुलिस पूछताछ में बताया है कि सुजानपुर निवासी जितेंद्र सिंह मल्हारगढ़ के ग्रामीण क्षेत्रों में अवैध जहरीली शराब की सप्लाई करता था। वर्ष 2020 से अवैध शराब के मामले में ही मनासा और सीतामऊ पुलिस को भी इस आरोपी की तलाश है। वही दो अन्य फरार पिता-पुत्र महिपाल सिंह और गजेंद्र सिंह खकराई गांव में अवैध शराब बेचते थे। इसके बाद इन तीनों फरार आरोपियों की सूचना देने या गिरफ्तारी के लिए मंदसौर एसपी सिद्धार्थ चौधरी ने 10-10 हजार रुपए का इनाम घोषित किया है।

एसआईटी की टीम ने मृतकों के परिजनों और जहरीली शराब से प्रभावित मरीजों से की मुलाकात

मामले की जांच के लिए गठित की गई एसआईटी की टीम ने मंदसौर के पिपलिया मंडी और खकराई गांव में पहुंच जहरीली शराब से मृत व्यक्तियों के परिजनों से मुलाकात कर और बयान दर्ज किए हैं। वहीं जिला अस्पताल मंदसौर और निजी अस्पताल में भर्ती प्रभावित मरीजों से भी एसआईटी की टीम ने मुलाकात कर बयान लिए हैं। गुरुवार को भी एसआईटी की टीम पिपलिया मंडी थाना क्षेत्र के गांव में जाकर जहरीली शराब मामले की जांच करेगी। एसआईटी टीम के प्रमुख डॉ राजेश राजोरा ने बताया कि जिले में अब तक 7 व्यक्तियों की मौत हुई है वही 4 व्यक्ति अब भी जिले के सरकारी और निजी अस्पतालों में उपचाररत है । दो व्यक्तियों को इंदौर के एमवाय रेफर किया गया है । बताया जा रहा है कि जहरीली शराब के कारण इनकी आंखों की रोशनी चली गई है । एसआईटी प्रमुख ने भरोसा जताया है कि मामले में जांच कर आरोपियों को सख्त से सख्त सजा दिलवाई जाएगी।

बरहाल जहरीली शराब कांड मामले में एसआईटी की टीम गुरुवार को भी पिपलिया मंडी थाना क्षेत्र के गांव में जाकर मामले की जांच करेगी। वही पुलिस और प्रशासन की अवैध शराब के ठिकानों और अवैध ढाबों पर कार्रवाई भी लगातार जारी है।