पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX58821.040.56 %
  • NIFTY17486.950.52 %
  • GOLD(MCX 10 GM)462080.13 %
  • SILVER(MCX 1 KG)59537-0.64 %
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Mother Scolded For Deducting Rs 1500 From Account, Wrote In Suicide Note I Have Lost 40 Thousand Rupees In Free Fire Game, I Am Sorry, Don't Cry

मां की डांट के बाद किशोर फंदे से झूला:सुसाइड नोट में लिखा- फ्री फायर गेम में 40 हजार रुपए गंवा चुका हूं, आप रोना मत

छतरपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मां ने ऑनलाइन गेम में पैसे खर्च करने को लेकर 13 साल के इकलौते बेटे को डांट क्या दिया, उसने फांसी लगा ली। मौके से सुसाइड नोट मिला है। किशोर ने फ्री फायर खेलते हुए 40 हजार रुपए गंवाने की बात लिखी है। साथ ही, लिखा है- आई एम सॉरी मां, डोंट क्राइ। ममाला मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले का है।

सागर रोड पर विवेक पांडेय अपनी पत्नी प्रीति पांडेय, बेटे कृष्णा और बेटी के साथ रहते हैं। विवेक पैथालॉजी संचालक हैं, जबकि प्रीति जिला अस्पताल में हैं। कृष्णा 6वीं क्लास का छात्र था। शुक्रवार दोपहर 3 बजे पिता पैथोलॉजी पर थे, जबकि प्रीति अस्पताल में थीं। इसी दौरान मां को खाते से 1500 रुपए कटने का मैसेज मोबाइल पर मिला। मां ने घर पर मौजूद बेटे को फोन लगाया। पूछा कि ये पैसे क्यों कट गए। बेटे ने बताया, यह ऑनलाइन गेम के कारण कटे हैं। मां ने नाराजगी जताते हुए उसे डांट लगा दी।

घटना के बाद परिजन का रो-रोकर बुरा हाल है।
घटना के बाद परिजन का रो-रोकर बुरा हाल है।

इसके बाद कृष्णा कमरे में चला गया। अंदर से दरवाजा बंद कर लिया। घर में मौजूद बड़ी बहन ने कुछ देर बाद दरवाजा खटखटाया, तो जवाब नहीं मिला। बेटी ने पिता को इस बारे में बताया। माता-पिता तुरंत घर पहुंचे। दरवाजा तोड़कर देखा, तो अंदर कृष्णा फंदे पर लटका हुआ था।

13 साल के कृष्णा ने यही सुसाइड नोट लिखा है।
13 साल के कृष्णा ने यही सुसाइड नोट लिखा है।

सुसाइड नोट में लिखा- मां आप मत रोना
पिछले कुछ दिनों से कृष्णा पांडेय ऑनलाइन गेम फ्री फायर का शिकार हो चुका था। इससे पहले वह कई बार रुपए हार चुका था। मौत के बाद कृष्णा के पास से सुसाइड नोट मिला है। अंग्रेजी में सुसाइड नोट लिखा है। इसमें करीब 40 हजार रुपए फ्री फायर गेम के चक्कर में गंवाने का खुलासा किया है। साथ ही, बच्चे ने माता-पिता से माफी मांगी है।

छतरपुर से दिलीप चौरसिया की रिपोर्ट

खबरें और भी हैं...