पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57684.791.09 %
  • NIFTY17166.91.08 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47590-0.92 %
  • SILVER(MCX 1 KG)61821-0.24 %
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Announced – Government Will Give A Reward Of 1 Crore To The Best Federation Of Cluster Label; Free Treatment Up To Rs 5 Lakh For Women Associated With Ajivika Mission In A Private Hospital

CM शिवराज का स्व-सहायता समूहों से संवाद:क्लस्टर लेवल के बेस्ट फेडरेशन को 1 करोड़ रुपए देगी सरकार; मिशन से जुड़ी महिलाओं का प्राइवेट अस्पताल में 5 लाख तक का इलाज मुफ्त

मध्य प्रदेश2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ऐलान किया है कि आजीविका मिशन के तहत काम कर रहे क्लस्टर लेबल के बेस्ट फेडरेशन को सरकार 1 करोड़ रुपए का इनाम देगी। मुख्यमंत्री ने गुरुवार को भोपाल में आयोजित स्व-सहायता समूहों की पंचायत में कहा कि इन समूहों से जुड़ी सभी महिलाओं का आयुष्मान कार्ड बनाने का अभियान शुरू किया जाएगा। इन महिलाओं को प्राइवेट अस्पताल में 5 लाख रुपए तक का इलाज मुफ्त कराया जाएगा। बता दें, मध्यप्रदेश में 3 लाख 50 हजार स्व सहायता समूह है। जिनके 3500 सीएलएफ (क्लस्टर लेवल फेडरेशन) है।

मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में महिला स्व-सहायता समूह की सदस्यों से बात की। शहडोल जिले की मीरा ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को अपनी जिंदगी के संघर्ष की कहानी बताई। उन्होंने बताया कि स्व-सहायता समूह से जुड़ने के बाद मेरे जीवन में बहुत बड़ा बदलाव आया है। इनके बाद रायसेन जिले की कृषि सखी आशा उइके ने बताया कि उन्होंने ढाई सौ महिलाओं को जैविक खेती के लिए प्रेरित किया है। मेरे समूह को जिला स्तर पर जैविक खेती के लिए पुरस्कार मिला है। इसका श्रेय आजीविका मिशन को जाता है।

मुख्यमंत्री से संवाद करते हुए बैतूल की रुपाली ठाकरे ने बताया- आजीविका मार्ट पोर्टल पर अपने उत्पाद बेच रहे हैं, इससे बिक्री करने में परेशानी नहीं होती। हमें 8 से 10 लाख का प्रॉफिट 1 साल में हुआ है। अब हम दूसरों को आत्मनिर्भर बनाना चाहते हैं। कार्यक्रम शुरू होने से पहले शिवराज ने कोविड काल में महिला स्व-सहायता समूह की महिलाओं द्वारा किए गए उत्कृष्ट कार्यों की प्रदर्शनी का अवलोकन किया।

इस असवर पर शिवराज ने कहा- आज हमने महिलाओं की सफलता की कहानी सुनी, यह केवल हमारी इन बहनों की नहीं, बल्कि ऐसी हजारों बहनों की सफलता की कहानियां है। मैं अपनी उन सभी बहनों को बधाई और शुभकामनाएं देता हूं। बहनों, हमारा लक्ष्य है कि इस साल 2,550 करोड़ रुपए महिला स्व सहायता समूहों के खातों में बैंक लिंकेज के माध्यम से डाले जाएंगे। इसके अलावा सरकार की तरफ से भी 1,000 करोड़ रुपए की मदद दी जाएगी।

मुख्यमंत्री ने स्व-सहायता समूहों के प्रोडक्ट की बिक्री के लिए भोपाल स्थित हाट बाजार में आजीविका मार्ट खोलने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि इन समूहों के फेडरेशन को ऑनलाइन कॉमर्स पोर्टल से लिंक भी किया जाएगा। ताकि इनके प्रोडक्ट की इंटरनेशनल लेवल मार्केटिंग हो सके। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि सरकारी राशन दुकानों के संचालन की जिम्मेदारी भी इन समूहों को सौंपी जाएगी।

मुख्यमंत्री ने राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के पोर्टल का शुभारंभ किया। मुख्यमंत्री ने आजीविका मिशन के अंतर्गत तैयार किए गए विभिन्न उत्पादों का अवलोकन किया और जनता से ये उत्पाद खरीदने का आग्रह किया। इस अवसर पर पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया भी मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...