पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बांगरेड में भागवत कथा की शुरुआत:पीठाधीश्वर संत रामभद्राचार्य महाराज बोले- भागवत मोक्ष का द्वार है, आसुरी शक्तियों का मोक्ष भगवान के कर कमलों से ही हुआ

जावद3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सरवानिया महाराज के समीप स्थित बांगरेड़ गांव में सात दिवसीय श्रीमद भागवत कथा की शुरुआत शनिवार से हो चुकी है। कथा का समापन गुरुवार को होगा। चित्रकूट मठ तुलसी पीठाधीश्वर संत रामभद्राचार्य महाराज कथा का वाचन कर रहे है। कथा के दूसरे दिन कथा का वाचन करते हुए रामभद्राचार्य जी महाराज ने कहा कि भागवत मोक्ष का द्वार है।

भागवत में भगवान से कैसे लाड़ लड़ाया जाए? भगवान को कैसे रिझाया जाए? इस बारे में संपूर्ण जानकारी है। उन्होंने कहा कि समस्त आसुरी शक्तियों का मोक्ष भगवान के कर कमलों से ही हुआ है। हमारे चार पुरुषार्थ और ग्यारह आशक्तियों में कैसे रहा जाए? आठों यामो में भगवान का चित्र कैसा हो? राधा जी क्या है? इसकी जानकारी भागवत कथा में वर्णित है।

कथा के दूसरे दिन आयोजन में नीमच एसडीएम ममता खेड़े, पुलिस चौकी प्रभारी सरवानिया आईके तिवारी, रावत प्रथ्वीराज सिंह शक्तावत, हेमेंद्र सिंह शक्तावत, हरिशंकर गायरी, मदनलाल भरावत सरपंच, सचिव देवीलाल वर्मा, केलाशनाथ योगी सह सचिव, भंवरलाल लंबरदार खाती, केलाश चंन्द्र खाती, घनश्याम चौधरी, शालीगराम गायरी, मुकेश चंदेल खेड़ा सहित राजनीतिक और सामाजिक लोगों ने भाग लिया।

खबरें और भी हैं...