पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Morena
  • Dacoit Gudda Gurjar's Accomplice Karua Gurjar Arrested, Madhya Pradesh Hindi News And Updates, Madhya Pradesh News

भाग रहे डकैत को पकड़ने का VIDEO:पुलिस ने गोली चलाई; लड़खड़ाकर गिरा तो दबोचा

मुरैना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

चंबल का शनीचरा जंगल। दस्यु गुड्‌डा गुर्जर गैंग का एक्टिव सदस्य करुआ गुर्जर भाग रहा है। पीठ पर बैग है। हाथ में दोनाली बंदूक। क्राइम ब्रांच टीम को लीड कर रहे सचिन पटेल उसे ललकारते हैं- तू घिर गया है। करुआ रुकता नहीं है, दौड़ना जारी रखता है...। पुलिस गोली चला देती है। वह और तेज भागने लगता है, इतने में चट्‌टान से टकराकर लड़खड़ाकर गिर जाता है। पीछा कर रही टीम उसे दबोच लेती है।

यह सीन किसी रील स्क्रिप्ट का नहीं, रियल है। शनिवार को चंबल के शनीचरा के जंगल में 10 हजार का इनामी करुआ गुर्जर डकैत पकड़ा गया।

21 साल का करुआ गुर्जर लोहगढ़ का रहने वाला है। वह 60 हजार रुपए के इनामी डकैत गुड्‌डा गुर्जर का रिश्तेदार है। गुड्‌डा भी लोहगढ़ का रहने वाला है। फिलहाल वो जेल में है। करुआ का मकान लोहगढ़ में गुड्‌डा के मकान से कुछ कदम दूर है। मकान पुलिस ढहा चुकी है।

चाची बोली- पिता ने करुआ को पीटकर भगा दिया था...
दैनिक भास्कर को करुआ गुर्जर की चाची राजकुमारी ने बताया कि करुआ गुर्जर एक साल से घर नहीं आया। पिता ने उसे पीटकर घर से भगा दिया था। वह ट्रक ड्राइवरी करने लगा था। इसके बाद से वह घर नहीं लौटा। बाद में पता चला कि वह गुर्जर गुड्‌डा गुर्जर की गैंग में शामिल होकर वारदातों को अंजाम दे रहा है।

करुआ गुर्जर की चाची राजकुमारी। 21 साल का करुआ गुर्जर लोहगढ़ का रहने वाला है। इसी गांव का गुड्‌डा गुर्जर भी है। गुड्‌डा गुर्जर को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है।
करुआ गुर्जर की चाची राजकुमारी। 21 साल का करुआ गुर्जर लोहगढ़ का रहने वाला है। इसी गांव का गुड्‌डा गुर्जर भी है। गुड्‌डा गुर्जर को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है।

ऐसे पकड़ा गया डकैत...
रिठौरा थाना प्रभारी संजय किरार ने बताया कि उन्हें मुखबिर ने सूचना दी कि करुआ गुर्जर शनीचरा के जंगल में आ रहा है। उन्होंने इसके बारे में क्राइम ब्रांच प्रभारी सचिन पटेल को बताया। सचिन पटेल अपनी टीम को लेकर पहुंचे। मैं भी थाने की टीम को लेकर जंगल में सर्च करने लगा। करुआ को देखते ही फायर किया। वह भागने लगा। उसके हाथ में बंदूक थी। कमर में पट्‌टा और पीछे पिट्‌ठू बैग टांगे था।

चंबल के शनीचरा जंगल में गुड्‌डा गुर्जर गैंग के एक्टिव मेंबर को पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम ने पकड़ लिया। वो भागते हुए चट्टान से टकराने के बाद गिर गया। टीम ने उसे दबोच लिया।
चंबल के शनीचरा जंगल में गुड्‌डा गुर्जर गैंग के एक्टिव मेंबर को पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम ने पकड़ लिया। वो भागते हुए चट्टान से टकराने के बाद गिर गया। टीम ने उसे दबोच लिया।

डकैत भागा तो सचिन पटेल ने उसे ललकारा- करुआ भाग मत, तू चारों तरफ से घिर गया है, बचेगा नहीं...। वह फिर भी नहीं माना तो टीम ने उस पर फायरिंग शुरू कर दी। इससे उसका हौसला पस्त हो गया। उसकी चाल लड़खड़ाने लगी। वह सीधे भागने के बजाय इधर-उधर करके भागने लगा, जिससे उसे गोली न लगे। इसी दौरान वह एक ऊंची चट्‌टान पर भाग रहा था, तभी अचानक लड़खड़ाकर गिर पड़ा। जैसे ही वह गिरा, दोनों टीमों ने उसे जमीन पर ही दबोच लिया। उसकी बंदूक दूर जा गिरी थी और चप्पल उतर गई थी।

लोहगढ़ में करुआ गुर्जर का मकान पुलिस ने गिरा दिया। करुआ और गुड्‌डा दोनों रिश्तेदार हैं। दोनों के मकान कुछ फासले पर ही हैं। गुड्‌डा पहले ड्राइवरी करता था।
लोहगढ़ में करुआ गुर्जर का मकान पुलिस ने गिरा दिया। करुआ और गुड्‌डा दोनों रिश्तेदार हैं। दोनों के मकान कुछ फासले पर ही हैं। गुड्‌डा पहले ड्राइवरी करता था।

करुआ बोला- पेट में पथरी है, इसलिए बीड़ी पीता हूं...
करुआ गुर्जर के पेट में पथरी है। पथरी का दर्द उसे होता रहता है। जब टीम ने उसके बैग खंगाला तो उसमें नमकीन, बिस्किट, बीड़ी का बंडल और गुटखे की पुड़िया मिली। पुलिस को करुआ ने बताया कि उसके पेट में पथरी है। इस वजह से वह बीड़ी पीता है। नमकीन-बिस्किट इसलिए रखे था कि उसे खाकर वह अपना पेट भर लेता था, जंगल में खाना नहीं मिलता है।

अचानक पहुंचता था रिश्तेदार के यहां...
करुआ गुर्जर ने पुलिस को बताया कि वह अपने रिश्तेदारों के यहां अचानक पहुंचता था और घंटे भर से ज्यादा टिकता नहीं था। उनसे वह पैसे लेता और खाना खाता। साथ में खाना लेकर भी चलता है। अब उसे अपने रिश्तेदारों का भी भरोसा नहीं रहा है। पुलिस ने उसके कब्जे से 12 बोर की एक दोनाली बंदूक, एक पट्‌टे में 10 कारतूस और जेब से 700 रुपए बरामद किए हैं।

करुआ गुर्जर इससे पहले दो बार जेल जा चुका है। गुड्‌डा डकैत के संपर्क में आने के बाद उसका मुख्य काम अवैध वसूली करना था।
करुआ गुर्जर इससे पहले दो बार जेल जा चुका है। गुड्‌डा डकैत के संपर्क में आने के बाद उसका मुख्य काम अवैध वसूली करना था।

तीन महीने पहले जुड़ा था गुड्‌डा की गैंग से...
करुआ गुर्जर ने पुलिस को बताया कि वह गुड्‌डा डकैत से तीन महीने पहले ही जुड़ा था। वह उसकी गैंग का परमानेंट सदस्य नहीं है। वह पहले गाड़ी चलाता था, बाद में जब कोरोना काल आया तो बेरोजगार हो गया। उस दौरान वह रिश्तेदारों और दोस्तों से उधार मांग-मांग कर काम चलाता रहा। उस पर उधारी जब काफी हो गई, तो वह गुड्‌डा की गैंग में शामिल हो गया। गुड्‌डा उससे अवैध वसूली करवाता था। इसी में से वह उसे उसका हिस्सा दे दिया करता था।

पुलिस ने करुआ गुर्जर के कब्जे से 12 बोर की एक दोनाली बंदूक, एक पट्‌टे में 10 कारतूस और जेब से 700 रुपए कैश बरामद किए हैं।
पुलिस ने करुआ गुर्जर के कब्जे से 12 बोर की एक दोनाली बंदूक, एक पट्‌टे में 10 कारतूस और जेब से 700 रुपए कैश बरामद किए हैं।

दो बार जा चुका जेल
करुआ गुर्जर इससे पहले दो बार जेल जा चुका है। नूराबाद थाने में उसके खिलाफ धारा 307 सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज है। गुड्‌डा डकैत के संपर्क में आने के बाद उसका मुख्य काम अवैध वसूली करना था। वह गुड्‌डा के लिए क्रेशर संचालकों व बनियों से अवैध वसूली किया करता था। यह बंदूक भी गुड्‌डा ने ही उसे दी थी। बंदूक कहां से लूटी गई है, इस बात का पुलिस पता लगा रही है।

इनामी डकैत गुड्डा गुर्जर अरेस्ट

गुड्‌डा गुर्जर को पुलिस ने शॉर्ट एनकाउंटर में गिरफ्तार किया था। वह इस समय जेल में है।
गुड्‌डा गुर्जर को पुलिस ने शॉर्ट एनकाउंटर में गिरफ्तार किया था। वह इस समय जेल में है।

पुलिस ने चंबल के कुख्यात इनामी डकैत गुड्‌डा गुर्जर को एक मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस और डकैत गुड्‌डा की मुठभेड़ रात करीब 8 बजे ग्वालियर से 40 किलोमीटर दूर जंगल में हुई। ग्वालियर क्राइम ब्रांच की टीम ने फायर किए तो गुड्डा गुर्जर गैंग ने भी फायरिंग कर दी। मुठभेड़ में डकैत गुड्‌डा के पैर में गोली लगी है। गुड्डा के 3 साथी अंधेरे का फायदा उठाकर फरार हो गए। ADG डी श्रीनिवास वर्मा ने बताया कि डकैत गुड्डा के पास 315 बोर की बंदूक मिली है। गुड्डा पर 3 हत्या, 5 हत्या के प्रयास के मामले दर्ज हैं। साथ ही 28 से 30 डकैती के मामले दर्ज हैं। गुड्डा पर 60 हजार रुपए का इनाम था। पढ़िए, पूरी खबर