पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मवई मोतीनाला क्षेत्र में जंगली हाथियों की धमक:फसल और घरों को पहुंचाया नुकसान, बिछिया रेंज से कान्हा की ओर जाने की संभावना

मंडला2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मंडला जिले की सीमा में जंगली हाथियों का आतंक थमने का नाम नहीं ले रहा है। पिछले लगभग 15 दिनों से मवई परिक्षेत्र में हाथियों द्वारा मकान और फसलों को नुकसान पहुंचाने के बाद अब यह दल मोतीनाला परिक्षेत्र में आतंक बरपा रहा है। यहां मेढ़ाघाट और सूरजपुरा में जंगली हाथियों ने दो मकान तोड़ दिए और फसलों को नुकसान पहुंचाया है। वर्तमान में ये हाथी बिछिया रेंज में हैं। इनके कान्हा की ओर जाने की संभावना जताई जा रही है।

दरअसल पिछले लगभग डेढ़ वर्ष से जंगली हाथियों का एक दल मंडला, डिंडौरी जिले के छत्तीसगढ़ सीमा क्षेत्र में मूवमेंट कर रहा है। ये जहां से भी गुजरते हैं, वहां मकानों और फसल को नुकसान पहुंचाते हैं। अक्टूबर माह में मवई परिक्षेत्र में खेत की रखवाली कर रहे युवक की इन हाथियों के हमले में मौत भी हो चुकी है।

फसल व घरों को नुकसान पहुंचा रहे

डीएफओ पूर्व सामान्य पुनीत गोयल ने बताया कि वर्तमान में 6 हाथियों का दल बिछिया रेंज में है। ये कान्हा बफर जोन की ओर जा रहे हैं। इन हाथियों ने फसलों को नुकसान पहुंचाया है। उन्होंने बताया कि वन विभाग की टीम 24 घंटे वहां मौजूद है। रेंज अधिकारी और स्थानीय वनविभाग की टीम मौके पर मौजूद रहकर ग्रामीणों के सहयोग से कार्य कर रही है।

मूवमेंट पर रख रहे नजर

उन्होंने बताया कि हम इनकी मॉनिटरिंग करते रहते हैं। वन सुरक्षा समितियों में हाथी मित्र दल बनाए गए हैं। ये भी हाथियों के मूवमेंट पर नजर रखते हैं। आगे आने वाले गांव में सावधानी बरतने के लिए सूचना दी जाती है। हमारी कोशिश है कि ये जहां से भी गुजरते हैं, वहां के लोगों को समय पर सतर्क कर दिया जाए जिससे जनहानि रोकी जा सके।

खबरें और भी हैं...