पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57684.791.09 %
  • NIFTY17166.91.08 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47590-0.92 %
  • SILVER(MCX 1 KG)61821-0.24 %
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Khandwa
  • Wheat Of Khandwa Sent For Distribution In Gujarat, Maharashtra, South India, Lifting Started Late By 1 Month, 57 Rakes Of 2600 Metric Tonnes Will Go To Other States

भारतीय खाद्य निगम:गुजरात, महाराष्ट्र, दक्षिण भारत में बांटने भेजा खंडवा का गेहूं, उठाव 1 माह देरी से शुरू हुआ, 2600 मीट्रिक टन की 57 रैक अन्य राज्यों में जाएंगी

खंडवा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गोदामों में भंडारित गेहूं रैक के माध्यम गुजरात, महाराष्ट्र व दक्षिण भारत पहुंचाया जा रहा है। - Money Bhaskar
गोदामों में भंडारित गेहूं रैक के माध्यम गुजरात, महाराष्ट्र व दक्षिण भारत पहुंचाया जा रहा है।

जिले में 1975 रुपए क्विंटल में खरीदा गया गेहूं गुजरात, महाराष्ट्र व दक्षिण भारत की कंट्रोल दुकानों पर बंटेगा। भारतीय खाद्य निगम ने 2600 मीट्रिक टन की तीन रैक इन राज्यों में पहुंचा दी है। अभी 57 रैक का उठाव बाकी है, जो अन्य राज्यों तक पहुंचाया जाएगा।

जिले में इस साल समर्थन मूल्य पर 2.10 लाख मीट्रिक गेहूं की खरीदी की गई थी। मई में खरीदी बंद होने के बाद इस गेहूं का भंडारण खंडवा के 42, हरसूद के 5 व खालवा के 2 गोदामों में किया गया था। फूड कार्पोरेशन ऑफ इंडिया (भारतीय खाद्य निगम) द्वारा खरीदी बंद होते ही खरीदे गए गेहूं का उठाव रैक के माध्यम से शुरू कर दिया जाता है, लेकिन इस साल टेंडर नहीं होने से प्रक्रिया में तीन महीने लग गए। जिले में वर्तमान में खंडवा के निजी गोदामों से सोमवार से गेहूं का उठाव शुरू कर दिया गया है।

60 हजार मीट्रिक टन गेहूं खंडवा में बंटेगा

मप्र वेयर हाउसिंग कार्पोरेशन के अनुसार जिले में भंडारित गेहूं में से 1.56 लाख मीट्रिक टन गेहूं यानी 60 रैक अन्य राज्यों में जाएंगी। इसमें से बचा करीब 60 हजार मीट्रिक टन गेहूं खंडवा जिले में सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत कंट्रोल दुकानों तक पहुंचाया जाएगा।

इधर.. पुराने गेहूं में नमी की शिकायत

सेंट्रल वेयर हाउस कार्पोरेशन में इन दिनों हरदा, होशंगाबाद, जबलपुर में एक साल पहले समर्थन मूल्य पर खरीदे गए गेहूं, चावल, बाजरा का भंडारण हो रहा है। इसके बाद इसका आवंटन जिले की कंट्रोल दुकानों व सहकारी समितियों मंे हो रहा है। जावर सहित आसपास की समितियों की शिकायत है कि यहां से भेजे गए गेहूं में नमी आ रही है जो कि बांटने योग्य नहीं है।

57 रैक अन्य राज्यों में जाएंगी

जिले के 49 गोदामों में सरकारी गेहूं का भंडारण किया गया है। वर्तमान में 2600 मीट्रिक टन की तीन रैक गुजरात, महाराष्ट्र व दक्षिण भारत भेजी गई है। 57 रैक भी अन्य राज्यों तक पहुंचाई जाएंगी।
-एमएस गमार, प्रभारी, मप्र वेयर हाउसिंग कार्पोरेशन

खबरें और भी हैं...