पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX61350.260.63 %
  • NIFTY18268.40.79 %
  • GOLD(MCX 10 GM)479750.13 %
  • SILVER(MCX 1 KG)65231-0.33 %
  • Business News
  • Local
  • Mp
  • Khandwa
  • On The First Day, Chaos Was Seen, Children Reached School With Gaiety Drums, Lethargy Somewhere The Teacher Disappeared And Somewhere On Half Leave

18 महीने बाद खुले पहली से पांचवीं तक के स्कूल:पहले दिन अव्यवस्थाएं देखने को मिली, उल्लास - ढाेल-नगाड़ाें के साथ स्कूल पहुंचे बच्चे ,सुस्ती - कहीं शिक्षक गायब तो कहीं आधे छुट्टी पर

खंडवाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पहली से पांचवीं तक के स्कूल सोमवार को 18 महीने बाद खुले। एक तरफ स्कूल जाने को लेकर कुछ जगह बच्चों में उत्साह दिखा तो दूसरी तरफ स्कूलों में बच्चे ही नहीं पहुंचे। 32 स्कूली बच्चे रैली निकालकर ढोल-ताशों के साथ शहर के शासकीय परोपकारिणी स्कूल पहुंचे। यहां पर शिक्षकों ने बच्चों का तिलक लगाकर स्वागत किया। वहीं कुछ स्कूलों में न शिक्षक पहुंचे और न ही विद्यार्थी। कुछ स्कूलों में सीलन के कारण पानी टपक रहा था।

जिले में पहली से 5वीं तक के 1097 सरकारी व 104 निजी स्कूल खुल गए। अभिभावकों की सहमति से एक कक्षा में 50% यानी 20 बच्चों को ही बैठाना था लेकिन कई स्कूलों में एक ही कक्षा में बैठकर पढ़ाया गया।

  • 1. 80 में से एक भी बच्चा नहीं आया, पूरा स्टाफ नदारद : भवानी माता मार्ग स्थित शासकीय प्राथमिक ठक्कर बप्पा स्कूल में 12 बजे तक स्टाफ था ना विद्यार्थी। स्कूल में पहली से पांचवीं तक 80 बच्चे दर्ज हैं, जबकि प्रधान पाठिका सहित तीन शिक्षिकाएं हैं। एक में वैक्सिनेशन हो रहा था, एक कक्षा जर्जर है।
  • 2. एक कक्षा में बैठाए 40 बच्चे: शासकीय प्राथमिक शाला घासपुरा में दोपहर के 12.15 बजे तक 160 में से 60 बच्चे पहुंच गए थे। 5 शिक्षक शिक्षिकाओं में 2 छुट्टी पर थे, इसलिए यहां चौथी व पांचवीं की 40 छात्राओं को एक ही कक्षा में बैठाकर पढ़ाया गया।
  • 3. 58 बच्चों में 2 ही आए, दो शिक्षिकाओं ने पढ़ाया: शासकीय कमला नेहरू प्राथमिक शाला में पहली से पांचवीं तक 58 बच्चे दर्ज हैं। सोमवार को पहले दिन चौथी व पांचवीं कक्षा का एक-एक विद्यार्थी ही पढ़ने आया। दोनों को एक ही कक्षा में बैठाकर दो शिक्षिकाओं ने पढ़ाया। दो शिक्षक छुट्‌टी पर थे।

इधर.. ढोल-नगाड़ों के साथ स्कूल पहुंचे विद्यार्थी

सोमवार को संत रैदास वार्ड के 32 बच्चे ढोल-नगाड़ों केसाथ रैली के रूप में स्कूल पहुंचे। यहां पूरे स्टाफ ने उनका स्वागत तिलक लगाकर व माला पहनाकर किया। शिक्षक युनूस शेख ने बताया 18 महीने से स्कूल नहीं लगने से सभी ओटला क्लास में उनके पास पढ़ रहे थे।

50% का प्रयास करेंगे

विद्यार्थियों की उपस्थिति 20% रही। बच्चों को स्कूल भेजने के लिए शिक्षक निवेदन कर रहे हैं। हमारा प्रयास रहेगा कि उपस्थिति बढ़कर 50% हो जाए।-पीएस सोलंकी, जिला परियोजना समन्वयक, सर्व शिक्षा अभियान

खबरें और भी हैं...